भदोही में बरपा डेंगू-मलेरिया का कहर, स्वास्थ्य कर्मी भी चपेट में

अक्सर अक्टूबर महीने में ही डेंगू का सबसे अधिक प्रकोप देखा जाता है लेकिन प्रशासन हमेशा की तरह हालात बिगड़ने का इंतजार कर रहा है.

  • Share this:
मौसमी बदलाव और साफ-सफाई की कमी लोगों की जान पर आफत बनकर आई है. इलाके में भी मच्छर आतंक मचा रहे हैं. यहां बड़ी आबादी डेंगू और मलेरिया से ग्रस्त है. यहां तक कि दो स्वास्थ्य कर्मी भी डेंगू की चपेट में आ चुके हैं.



भदोही जिले में इन दिनों डेंगू और मलेरिया का प्रकोप देखा जा रहा है. यहां अभी तक 5 डेंगू के मरीजों की पुष्टि हो चुकी है. वहीं गोपीगंज सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र के दो कर्मचारी भी डेंगू की चपेट में आ गए हैं, जिनका इलाज चल रहा है.



यहां रोजाना सरकारी और निजी अस्पतालों में भी इन दोनों बीमारियों के मरीज आ रहे हैं. रोज मलेरिया के दर्जनों मरीजों की पुष्टि हो रही है लेकिन अब तक स्वास्थ्य विभाग इससे आंखें मूंदे हुए है. स्थानीय लोगों का आरोप है कि डेंगू और मलेरिया की रोकथाम के लिए जितने प्रयास होने चाहिए, वह नहीं हो रहे हैं.





लोगों का कहना है कि नगर पालिका प्रशासन से लेकर स्वास्थ्य विभाग लापरवाही बरत रहा है. सभी वार्डों में दवाओं का छिड़काव नहीं कराया जा रहा. इससे लोग लगातार बीमार हो रहे हैं. कई इलाकों में जलभराव भी हुआ है लेकिन उसकी निकासी के भी बंदोबस्त नहीं.
इधर नगर पालिका के अधिकारियों का कहना है कि डेंगू-मलेरिया की रोकथाम के लिए वह समुचित प्रयास कर रहे हैं. गौरतलब है कि अक्सर अक्टूबर महीने में ही डेंगू का सबसे अधिक प्रकोप देखा जाता है लेकिन प्रशासन हमेशा की तरह हालात बिगड़ने का इंतजार कर रहा है. (रिपोर्ट- दिनेश पटेल)



ये भी पढ़ें-



पटना में स्कूल के कराटे ट्रेनर ने साढ़े तीन साल की बच्ची से किया रेप



चोरी या खो जाए Aadhaar कार्ड तो घर बैठे ऐसे आसानी से करें डाउनलोड 
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज