पीएम मोदी ने वाराणसी के वोटर्स को दिया संदेश, सुनाई काशी पर लिखी अपनी कविता
Varanasi News in Hindi

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के संसदीय क्षेत्र वाराणसी में सातवें और आखिरी चरण के चुनाव में वोट डाले जाएंगे. इससे पहले उन्‍होंने काशी की जनता के नाम संदेश दिया है.

  • Share this:
लोकसभा चुनाव 2019 के आखिरी चरण के लिए 19 मई को वोट डाले जाएंगे. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के संसदीय क्षेत्र वाराणसी में भी इसी चरण में मतदान होना है. इससे पहले पीएम मोदी ने मंगलवार को अपने संसदीय क्षेत्र वाराणसी के लोगों के नाम अपना संदेश भेजा है. इसमें उन्होंने लोगों से लोकतंत्र के इस महापर्व में बढ़-चढ़कर हिस्सा लेने के लिए कहा है. उन्होंने कहा, 'मेरे लिए नहीं, लेकिन काशी के लिए मतदान को लेकर नया रिकॉर्ड बनाना चाहिए.'

अपने संदेश में पीएम मोदी ने कहा, 'काशी मेरे लिए महज दो शब्द नहीं है. ये मेरे लिए प्रेरणा है. आज काशी विकास के नए पथ पर अग्रसर है. बाबा विश्वनाथ की धरती से वर्ष 2019 में आप भी लोकतंत्र के इस उत्सव में जरूर शरीक हों. आप वोट देने अवश्य जाएं. अपने आस-पड़ोस और साथियों को भी वोट करने के लिए प्रेरित करें. सारा देश उस दिन काशी की तरफ देख रहा होगा.'

पीएम मोदी ने वाराणसी की जनता को संबोधित करते हुए कहा, 'कहते हैं इस तपोभूमि में जो भी एक बार आया वह यहीं का होकर रह गया. बीते पांच वर्षों में मैंने भी प्रतिपल इसका अनुभव किया है. साथियों मैं अनुभव कर रहा हूं कि मेरे राजनीतिक और आध्यात्मिक जीवन को दिशा देने और मुझे गढ़ने में काशी का बहुत बड़ा योगदान है. काशी मेरे लिए सिर्फ दो अक्षर नहीं, मेरे रोम-रोम में बसी अध्यात्म, धर्म और संस्कृति की अविरत प्रेरणा है.'



आगे प्रधानमंत्री ने कहा है, 'यह मेरा सौभाग्य है कि आपने मुझे एक सेवक के रूप में काशी की पवित्र भूमि में सेवा करने का अवसर दिया. जिस काशी पर बाबा विश्वनाथ मोहित हों उसे किसी की क्या आवश्यकता है, पर मेरा जीवन काशी और काशीवासियों के कुछ काम आ सका इसका मुझे संतोष है. काशी के धार्मिक और ऐतिहासिक महत्व में मेरा एक ईंट भी जोड़ना बहुत बड़ा सौभाग्य होता है. काशी के लोगों ने मुझे ये मौका देकर मेरा जीवन धन्य कर दिया है. आज मुझे इस बात का गर्व है कि काशी पिछले पांच वर्षों में जन भागीदारी के साथ विकास की जिस राह पर चल पड़ा है, वह देश के लिए मिसाल है.'
इस दौरान उन्होंने काशी पर लिखी अपनी एक कविता भी सुनाई-
पुरातन, पुनीत, परिमल काशी
अडिग, अप्रतिम, अविरल काशी
निरंतर, निर्विघ्न, निर्मल काशी
विशिष्ट, विकसित, विमल काशी

देखें वीडियो-


उन्होंने कहा, "साथियों पिछले पांच वर्षों में हम सबने मिलकर बहुत काम किया है. लेकिन अभी बहुत कुछ करना बाकी है और मिलजुलकर करना है. हमारा संकल्प है कि विकास की इस गति को थमने नहीं देना है. इस बार जब मैं नामांकन करने आया था तो रोड शो के बाद आप ही लोगों ने मुझे आदेश दिया था कि अब आप मत आईए, सब कुछ हम संभाल लेंगे. मुझे आप पर विश्वास हैं. मेरे लिए आपके वो शब्द नहीं थे, वो वादा था. पिछले कई दिनों से मुझे खबर मिल रही है कि आप जी जान से लगे हैं.'

पीएम ने आगे कहा, "आज सभी काशी वासी खुद मोदी बनकर चुनाव लड़ भी रहा और लड़वा भी रहा है. मुझे कुछ कहने जरूरत नहीं, क्योंकि आपने मुझे इतना दिया है जिसको मैं गिना भी नहीं सकता. हर काशीवासी सबकुछ जानता है. क्या करना है, क्या नहीं करना है? क्यों करना है, कैसे करना है? बस इतना कहना चाहता हूं कि लोकतंत्र के इस उत्सव में जरूर हिस्सा लीजिएगा."

ये भी पढ़ें- 

मेरी पहली फिल्म सुपरहिट थी, वैसे ही आजमगढ़ का चुनाव भी सुपरहिट होगा: निरहुआ

नरेंद्र मोदी को फिर से पीएम बनाने के लिए वाराणसी में डटे डंडा गुरु, साइकिल से कर रहे प्रचार

क क्लिक और खबरें खुद चलकर आएंगी आपके पास, सब्सक्राइब करें न्यूज़18 हिंदी  WhatsApp अपडेट्स
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading