लाइव टीवी

पंडित दीनदयाल उपाध्याय की 63 फीट ऊंची प्रतिमा का 16 फरवरी को लोकार्पण करेंगे PM मोदी
Varanasi News in Hindi

Nitin Goswami | News18 Uttar Pradesh
Updated: February 10, 2020, 11:36 PM IST
पंडित दीनदयाल उपाध्याय की 63 फीट ऊंची प्रतिमा का 16 फरवरी को लोकार्पण करेंगे PM मोदी
चंदौली में लगेगी दीनदयाल की 63 फीट ऊंची प्रतिमा.

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी 16 फरवरी को पंडित दीनदयाल उपाध्याय (Pandit Deendayal Upadhyay) की 63 फीट ऊंची प्रतिमा का लोकार्पण करेंगे. जबकि यूपी के सीएम योगी आदित्यनाथ (Yogi Adityanath) ने स्मृति स्थल पहुंचकर तैयारियों को जायजा लिया है.

  • Share this:
चंदौली. उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ (Yogi Adityanath) आज (सोमवार) पंडित दीनदयाल उपाध्याय स्मृति स्थल पहुंचे. इस दौरान स्मृति स्थल का निरीक्षण कर अधिकारियों से तैयारियों का जायजा लिया. वह करीब 30 मिनट तक स्मृति स्थल पर रहे. इस दौरान पत्रकारों से बातचीत में सीएम ने कहा कि इस स्मारक से देश विदेश में क्षेत्र की पहचान बनेगी. गौरतलब है कि एकात्म मानववाद के प्रणेता पंडित दीनदयाल उपाध्याय (Pandit Deendayal Upadhyay) की स्मृति में पड़ाव इलाके में गन्ना संस्थान की भूमि पर संग्रहालय का निर्माण कराया जा रहा है, जिसका लोकार्पण करने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी 16 फरवरी चंदौली पहुंचेंगे.

सीएम योगी ने कही ये बात
सीएम योगी ने कहा कि एकात्म मानववाद के प्रणेता दीनदयाल उपाध्याय की ये पुण्यस्थली है. यहीं 1968 में उन्होंने महाप्रयाण लिया था. जबकि मैं देश के प्रधामनंत्री नरेंद्र मोदी के कार्यक्रम के मद्देनजर यहां समीक्षा करने आया हूं. पंडितदीनदयाल उपाध्याय के नाम पर यहां स्टेशन, नगर और इस स्थल के नाम जुड़ जाने से देश दुनिया मे इनका महत्व बढ़ेगा. फिलहाल प्रथम फेज का काम खत्म होने पर प्रधानमंत्री मोदी इसे राष्ट्र को सौपेंगे. अंतिम व्यक्ति तक विकास पहुंचे, यही नया शंखनाद होगा.

अमित शाह ने की थी ये घोषणा

5 अगस्त 2018 को भाजपा के तत्कालीन राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह ने चंदौली जनपद के मुगलसराय स्टेशन को पंडित दीन दयाल उपाध्याय जंक्शन किये जाने की घोषणा की थी. उसी दिन मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने मुगलसराय रेलवे मैदान में उपस्थित जन समुदाय को सम्बोधित करते हुए पंडित दीन दयाल स्मृति स्थल की घोषणा करते हुए भाजपा के तत्कालीन राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह के हाथों शिलान्यास करवाया था.

इस स्मृति स्थल के लिए पड़ाव चौराहे पर स्थित गन्ना विकास संस्थान की 10 एकड़ ज़मीन अधिग्रहित कर उस पर इस स्थल के निर्माण के लिए 74 करोड़ रुपये का बजट पास किया था. इस स्मृति स्थल के प्रथम फेज़ के लिए 39 करोड़ का बजट कार्यदायी संस्थाओं को कुछ ही दिनों में शासन द्वारा मिल गया. उसके बाद साल जुलाई में 2019 के जुलाई में स्मृति स्थल का काम शुरू हुआ.

 63 फीट ऊंची है प्रतिमा
पिछले एक साल से करीब 200 मज़दूर दिन रात मेहनत करके पंडित दीन दयाल उपाध्याय की प्रतिमा को पूरा करने में लगे हैं. पांच धातु की 63 फीट ऊंची प्रतिमा देश की सबसे बड़ी दीन दयाल उपाध्याय की प्रतिमा है. इसका लोकार्पण प्रधानमंत्री आगामी 16 फरवरी को करेंगे. इसके अलावा वॉल पर उड़ीसा के 30 कारीगर दिन रात मेहनत कर पंडित दीनदयाल उपाध्याय के जीवन को उकेरने में लगे हैं.

 

ये भी पढ़ें-

कांग्रेस का अलिखेश यादव पर बड़ा हमला, आजमगढ़ में लगवाए 'लापता' होने के पोस्‍टर

 

डॉक्‍टर अपहरण कांड: 52 लाख की फिरौती की 'लीपापोती' में फंसे अफसर,जानिए क्‍यों?

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए वाराणसी से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: February 10, 2020, 11:31 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर