अपना शहर चुनें

States

UP: स्वर्ग जैसा दिखेगा काशी के घाटों का नजारा, वाराणसी के लोगों को PM मोदी का इंतजार

स्वर्ग जैसा दिखेगा काशी के घाटों का नजारा
स्वर्ग जैसा दिखेगा काशी के घाटों का नजारा

PM Mod Varanasi Visit: देव दीपावली के दिन माना जाता है कि सभी देवता बनारस के घाटों पर आते हैं. कार्तिक पूर्णिमा के दिन आ रहे प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी वाराणसी में कई योजनाओं का उद्घाटन करेंगे.

  • News18Hindi
  • Last Updated: November 30, 2020, 6:41 AM IST
  • Share this:
वाराणसी. भगवान शिव की नगरी काशी यूं ही तीनों लोकों में न्यारी है. इस बार देव दीपावली (Dev Diwali) को इसी के अनुरूप काशी के लोग इसे सजाने में लगे हैं. अपने सांसद और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) के स्वागत में उतावले काशी के लोगों का पूरा प्रयास है कि इस बार काशी को कुछ इस तरह सजाएं मानों धरती पर स्वर्ग उतर आया हो. मालूम हो कि यह पहली देव दीपावली है, जिसमें प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, राज्यपाल आनंदी बेन पटेल और मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ शामिल होंगे. ऐसे में इस आयोजन को दिव्य और भव्य बनाने में काशी के लोग कोई कोर-कसर नहीं छोड़ना चाहते.

बदल गई मां गंगा की तस्वीर
वाराणसी का सांसद होने के नाते प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी काशी का खासा खयाल रखते हैं. अवसर कोई भी हो वह काशी और यहां के लोगों को जरूर याद करते हैं. यही नहीं, उन्होंने काशी को बहुत कुछ दिया है. उनके प्रयास से गंगा अविरल और निर्मल हो चुकी है. गंगा में डाल्फिन का मिलना इसका सबूत है. घाट पहले से सुंदर और स्वच्छ हो चुके हैं. अपनी हर काशी यात्रा के साथ इस बार भी वह काशी को कुछ बड़ी सौगातें देंगे. ऐसे में काशी के लोग प्रधानमंत्री के अभूतपूर्व स्वागत के लिए उतावले हैं. सब कुछ होगा पर कोविड के पूरे प्रोटोकॉल के साथ.

15 लाख से अधिक जलेंगे दीप
काशी के सभी 84 घाट हर देव दीपावली पर दीयों की रौशनी से जगमग होते हैं. उस समय अर्द्धचंद्राकार गंगा से इन घाटों का नजारा अद्भुत होता है. लगता है मानों गंगा ने दीपों का हार पहन रखा है. हर साल लाखों की संख्या में देश दुनिया से लोग इस भव्‍य नजारे को देखने आते हैं. पर इस बार की देव दीपावली अपने खास अतिथियों के कारण खास होगी. देव दीपावली को भव्‍य बनाने के लिए 15 लाख से अधिक दीप जलेंगे. देव दीपावली के दिन 20-25 घाटों पर बड़े सांस्कृतिक कार्यक्रम भी आयोजित होंगे.



मां गंगा का भव्य नजारा
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी खजुरी में जनसभा करेंगे और राजातालाब से हंडिया तक बने सिक्स लेन सड़क का उद्धघाटन भी करेंगे. देव दीपावली पर प्रधानमंत्री खुद भी दीपदान करेंगे. फिर क्रूज पर बैठकर मां गंगा की गोद से अर्धचन्द्राकार घाटों पर जल रहे दीपों का नयनाभिराम नजारा देखेंगे, जो मां गंगा के गले में दीपों का हार जैसा प्रतीत होगा. पीएम मोदी चेत सिंह घाट पर लाइट एंड साऊंड के जरिये पौराणिक प्रसंग पर आधारित कार्यक्रम का लेजर शो भी देखेंगे. इसके बाद वह श्रीकाशी विश्वनाथ धाम के काम की प्रगति भी देखेंगे और काशी पुराधपति के दर्शन भी करेंगे.

देव दीपावली का महत्व
देव दीपावली के दिन माना जाता है कि सभी देवता बनारस के घाटों पर आते हैं. कार्तिक पूर्णिमा के दिन भगवान शिव ने त्रिपुरासुर नाम के राक्षस का वध किया था. त्रिपुरासुर के वध के बाद सभी देवी-देवताओं ने मिलकर खुशी मनाई थी. काशी में देव दीपावली का अद्भुत संयोग माना जाता है. इस दिन दीपदान करने का पुण्य फलदायी व विशेष महत्व वाला होता है. मान्‍यता है कि भगवान भोलेनाथ ने खुद धरती पर आकर तीन लोक से न्यारी काशी में देवताओं के साथ गंगा के घाट पर दिवाली मनाई थी. इसीलिए इस देव दीपावली का धार्मिक आध्यात्मिक और सांस्कृतिक महत्व भी है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज