प्रियंका गांधी ने वाराणसी में किया काल भैरव का दर्शन

कांग्रेस महासचिव और पूर्वी उत्तर प्रदेश की प्रभारी प्रियंका गांधी ने शनिवार को वाराणसी के काल भैरव मंदिर पहुंची और उन्होंने काल भैरव का दर्शन-पूजन किया. उनका शनिवार को काशी विश्वनाथ मंदिर जाने का भी कार्यक्रम है.

News18 Uttar Pradesh
Updated: July 20, 2019, 6:22 PM IST
प्रियंका गांधी ने वाराणसी में किया काल भैरव का दर्शन
प्रियंका गांधी ने वाराणसी में किया काल भैरव का दर्शन.
News18 Uttar Pradesh
Updated: July 20, 2019, 6:22 PM IST
कांग्रेस महासचिव और पूर्वी उत्तर प्रदेश की प्रभारी प्रियंका गांधी ने शनिवार को वाराणसी के काल भैरव मंदिर पहुंची और उन्होंने काल भैरव का दर्शन-पूजन किया. उनका शनिवार को काशी विश्वनाथ मंदिर जाने का भी कार्यक्रम है.

इससे पहले सोनभद्र नरसंहार मामले में कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा की जिद के आगे मिर्जापुर जिला प्रशासन बैकफुट पर आ गया. शनिवार को जिला प्रशासन के अधिकारियों ने सोनभद्र कांड के पीड़ितों की चुनार गेस्ट हाउस में प्रियंका गांधी से मुलाकात कराई. वहीं प्रियंका ने जिला प्रशासन पर आरोप लगाया कि 15 पीड़ित परिवारों की मुझसे मुलाकात नहीं कराई है सिर्फ 2 लोगों को मुझसे मिलाया गया है.

मीडिया से बातचीत में प्रियंका ने कहा कि पीड़ित परिवारों को गेट के बाहर ही रोका गया है. इससे पहले शनिवार सुबह प्रियंका ने न्यूज़18 से एक्सक्लूसिव बातचीत में कहा कि मैं जब तक परिवार के सदस्यों से नहीं मिलूंगी तब तक नहीं जाऊंगी. उन्होंने कहा कि मुझे राहुल गांधी ने भेजा है और वो जनता की आवाज बनकर उठाती रहेंगी.



'सोनभद्र घटना के लिए यूपी सरकार जिम्मेदार'
प्रियंका गांधी ने कहा इतना बड़ा हादसा हुआ है, आदिवासियों की जमीन को छीनने की कोशिश हुई है. इस घटना की पूरी जिम्मेदारी यूपी सरकार की है. दरअसल प्रियंका गांधी को शुक्रवार को सोनभद्र जाने के दौरान रास्ते में हिरासत में ले लिया गया था. पूर्वी उत्तर प्रदेश की प्रभारी प्रियंका यहां पीड़ित परिवारों से मिलने जा रही थीं.

गेस्ट हाउस में प्रियंका गांधी के मौजूद होने पर कांग्रेस कार्यकर्ताओं की भीड़ उमड़ पड़ी
Loading...

हिरासत में लिए जाने के बाद प्रियंका ने जमानत के लिए पर्सनल बॉन्ड देने से इनकार कर दिया था. शुक्रवार को भी उन्होंने कहा था कि मैं पीड़ितों से मिले बिना नहीं जाउंगी. साथ ही वो लगातार मांग करती रहीं कि उन्हें पीड़ित परिवारों से मिलने और आगे बढ़ने की अनुमति दी जाए. प्रियंका गांधी को मिर्जापुर जिले के चुनाव स्थित गेस्ट हाउस में ठहराया गया है. प्रियंका रात भर यहां रूकी थीं. अपने नेता के समर्थन में कांग्रेस कार्यकर्ता भी गेस्ट हाउस के बाहर रात भर डटे रहे.

ये भी पढ़ें - 
First published: July 20, 2019, 5:27 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...