Home /News /uttar-pradesh /

Varanasi News: संकट में BHU के शोध छात्र,छः महीनें से नहीं मिली फेलोशिप जानिए क्या है पूरा मामला

Varanasi News: संकट में BHU के शोध छात्र,छः महीनें से नहीं मिली फेलोशिप जानिए क्या है पूरा मामला

छः

छः महीने से शोध छात्रों को नहीं मिली फेलोशिप

सर्व शिक्षा की राजधानी कहे जाने वाले काशी हिंदू विश्वविद्यालय के शोध छात्र इन दिनों आर्थिक मंदी के दौर से गुजर रहे हैं.बीते छः महीनों से विश्वविद्यालय के अलग-अलग संकायों के हजारों शोध छात्रों (Research Student) को फेलोशिप नहीं मिली है.जिसके कारण उनका शोध कार्य प्रभावित होने के साथ ही उनके सामने खाने की परेशानी भी खड़ी हो गई है.

अधिक पढ़ें ...

    वाराणसी:सर्व शिक्षा की राजधानी कहे जाने वाले काशी हिंदू विश्वविद्यालय के शोध छात्र इन दिनों आर्थिक मंदी के दौर से गुजर रहे हैं.बीते छः महीनों से विश्वविद्यालय के अलग-अलग संकायों के हजारों शोध छात्रों (Research Student) को फेलोशिप नहीं मिली है.जिसके कारण उनका शोध कार्य प्रभावित होने के साथ ही उनके सामने खाने की परेशानी भी खड़ी हो गई है.आर्थिक संकट से जूझ रहे शोध छात्रों ने विश्वविद्यालय प्रशासन से इसकी लिखित शिकायत भी की है.
    बीएचयू (BHU) के हिंदी विभाग के शोध छात्र मृत्युंजय सिंह ने बताया कि बीते छः महीने से फेलोशिप की राशि नहीं मिली है.जिससे छात्रों के आगे खाने का संकट भी खड़ा हो गया है. आने वाले समय में प्रतियोगी परीक्षाएं भी है ऐसे में यदि छात्रों इसी फेलोशिप के पैसे से ये काम करते है.यदि विश्वविद्यालय प्रशासन की ओर से ये राशि छात्रों को जल्द से जल्द नहीं मिली तो छात्रों के भविष्य पर भी इसका सीधा प्रभाव पड़ेगा.

    8 हजार मिलती है फेलोशिप
    छात्र अभिषेक सिंह ने बताया कि शोध छात्रों को यूजीसी की ओर से पठन पाठन के लिए हर महीने 8 हजार रुपये की फेलोशिप दी जाती है.ऐसे में छात्रों को ये राशि नहीं मिल पाने के कारण उसने शोध कार्य प्रभावित हो रहा है.

    ये है विश्वविद्यालय का तर्क
    हालांकि इस मामले में विश्वविद्यालय के जनसंपर्क अधिकारी डॉ राजेश सिंह ने बताया कि शोध छात्रों के फेलोशिप की एक प्रक्रिया है उसी के तहत उन्हें इसकी राशि दी जाती है.यदि छात्रों के खाते में राशि नहीं जा रही है तो शिकायत के बाद उस प्रक्रिया के तहत उनके खाते में राशि दी जाएगी.

    रिपोर्ट- अभिषेक जायसवाल- वाराणसी

    Tags: Varanasi news

    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर