गुजरात निकाय चुनाव के नतीजों पर रहेगी पूरे देश की नजर, LIVE TV देखने के लिए क्लिक करें
Varanasi News in Hindi

गुजरात निकाय चुनाव के नतीजों पर रहेगी पूरे देश की नजर, LIVE TV देखने के लिए क्लिक करें
गुजरात में आज प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, सीएम आनंदीबेन पटेल और पाटीदार आंदोलन के नेता हार्दिक पटेल के लिए अहम दिन है. आज गुजरात निकाय चुनाव के परिणाम आने वाले हैं.

गुजरात में आज प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, सीएम आनंदीबेन पटेल और पाटीदार आंदोलन के नेता हार्दिक पटेल के लिए अहम दिन है. आज गुजरात निकाय चुनाव के परिणाम आने वाले हैं.

  • News18
  • Last Updated: December 2, 2015, 8:07 AM IST
  • Share this:
गुजरात में आज प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, सीएम आनंदीबेन पटेल और पाटीदार आंदोलन के नेता हार्दिक पटेल के लिए अहम दिन है. आज गुजरात निकाय चुनाव के परिणाम आने वाले हैं.

छह नगर निगमों के लिए मतदान 26 नवम्बर को हुआ था जबकि 31 जिला पंचायतों, 230 तालुका पंचायतों और 56 नगर पालिकाओं के लिए मतदान 29 नवम्बर को हुआ था.

वर्तमान समय में सभी छह नगर निगमों, अहमदाबाद, सूरत, वडोदरा, राजकोट, जामनगर और भावनगर में बीजेपी का नियंत्रण है। ग्रामीण और अर्धशहरी क्षेत्रों में अन्य स्थानीय निकायों में अधिकतर पर भी बीजेपी का नियंत्रण है.



हालांकि राष्ट्रीय या गुजरात की राजनीति में इसका कोई असर नहीं पड़ने वाला है. लेकिन पीएम मोदी के गढ़ रहे राज्य गुजरात में अगर बीजेपी के पक्ष में सीट कम होती हैं तो निश्चित तौर पर माना जाएगा कि मोदी की लोकप्रियता कम हो रही है.
मोदी के पीएम बनने के बाद गुजरात में पहला चुनाव
नरेंद्र मोदी के प्रधानमंत्री बनने के बाद राज्य में ये पहला चुनाव होने जा रहा है. जब तक राज्य में मोदी के हाथ में कमान थी, बीजेपी शायद ही कोई चुनाव हारी हो. ये इस लिहाज से ये भी महत्वपूर्ण होगा कि सीएम बनने के बाद आनंदीबेन पटेल का शासन कैसा चल रहा है?

2010 में मिली थी बंपर जीत
गौरतलब है कि 2010 में बीजेपी को सभी महानगर पालिकाओँ और ग्रामीण इलाकों में दो तिहाई से ज्यादा का बहुमत मिला था. इसलिए ये अगर बीजेपी पहले जैसा प्रदर्शन नहीं दोहरा पाती है तो निश्चित तौर पर इसको पीएम मोदी की लोकप्रियता से जो़ड़ा जाएगा.

हार्दिक पटेल के दावे होंगे कितने सही?
इन चुनाव परिणामों में पाटीदार आंदोलन के अगुवा रहे हार्दिक पटेल के दावों की भी कड़ी परीक्षा होगी. उन्होंने पटेल आरक्षण के दौरान ऐलान किया था कि अगर बीजेपी सरकार ने उनकी मांगों नहीं माना तो गुजरात के पटेल का राज्य से कांग्रेस की तरह बीजेपी को भी उखाड़ फेकेंगे. जाहिर है गुजरात में पटेल एक बड़ा वोट बैंक हैं और इस चुनाव में तय होगा कि कितने पटेल हार्दिक के साथ हैं.

गुजरात में कांग्रेस की उम्मीद
जिस तरह पाटीदार आंदोलन में राज्य सरकार के खिलाफ गुस्सा देखा गया था. उससे सालों बाद एक बार फिर कांग्रेस को वापसी की उम्मीद जगी है. आंदोलन से जुड़े पटेल नेताओं ने इस चुनाव में कांग्रेस के पक्ष में वोट देने की अपील की थी.

LIVE TV के लिए क्लिक करें
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading