Video : भूखे सोते लोगों के पेट की आग बुझाने के लिए बना डाला रोटी बैंक

ETV UP/Uttarakhand
Updated: July 17, 2017, 8:25 PM IST
Video : भूखे सोते लोगों के पेट की आग बुझाने के लिए बना डाला रोटी बैंक
Roti
ETV UP/Uttarakhand
Updated: July 17, 2017, 8:25 PM IST
रुपयों का लेनदेन करने वाले बैंक तो आपने बहुत से देखे होंगे, लेकिन वाराणसी में एक ऐसा बैंक भी है जो रोटी का लेनदेन कर भूखे लोगों का पेट भरने का काम करता है.

मूलरूप से बिहार के रहने वाले किशोर तिवारी यह रोटी बैंक चलाते हैं. इस बैंक से अब तक दो दर्जन से अधिक लोग जुड़ चुके हैं. यह रोटी बैंक सामनेघाट के पास महेशनगर में है और इस बैंक में पैसे नहीं बल्कि वह रोटियां जमा होती हैं जिनसे जरूरतमंदों की भूख मिटाने में मदद की जाती है.

दिनभर में इकट्ठी की गई रोटियों के साथ रात के अंधेरे में स्कूटी लेकर सड़कों पर घूम-घूमकर ये लोग सड़क किनारे भूखे सो रहे लोगों का पेट भरते हैं. ये लोग रोजाना रात को निकलते हैं और होटल और ढाबों में जाकर बचे हुए खाने को मदद के तौर पर लेते हैं और उस खाने को ये भूखे और गरीब लोगों में वितरित करते हैं.

आपको बता दें कि काशी के इस युवा किशोर के मन में ये खयाल तब आया जब इन्होंने कूड़े में रोटी ढूंढते हुए एक गरीब को देखा और उसी दिन इन्होंने भूख के खिलाफ जंग छेड़ने का फैसला कर लिया.

रोटी बैंक संचालक किशोर तिवारी ने बताया कि शुरू में ये काम कठिन था, लेकिन बाद में लोग इस नेक काम से जुड़ते गए और अब तक 25 से अधिक लोग नियमित दानदाता के तौर पर इस रोटी बैंक से जुड़ चुके हैं.

अभी ये लोग रोजाना सिर्फ दो रोटी, सब्जी या अचार दान में मांगते हैं और लंका, अस्सी, सामनेघाट पर सड़क के किनारे भूखे पेट सोने वालों में वितरित करते हैं. गरीबों की मदद के लिए रोटी देने वाले भी किशोर के इस प्रयास के कायल हैं.
First published: July 17, 2017
पूरी ख़बर पढ़ें
अगली ख़बर