लाइव टीवी

तस्वीरों में देखिए कैसी होगी काशी टू महाकाल एक्सप्रेस, 16 फरवरी को पीएम मोदी दिखा सकते हैं हरी झंडी

Upendra Dwivedi | News18 Uttar Pradesh
Updated: February 12, 2020, 10:08 PM IST
तस्वीरों में देखिए कैसी होगी काशी टू महाकाल एक्सप्रेस, 16 फरवरी को पीएम मोदी दिखा सकते हैं हरी झंडी
तीन ज्योर्तिलिंगों को जोड़ने वाली देश की तीसरी कॉरपोरेट ट्रेन काशी महाकाल एक्सप्रेस चलने को तैयार है.

ये ट्रेन वाराणसी में बाबा विश्वनाथ, उज्जैन में महाकालेश्वर और इंदौर में ओंकारेश्वर ज्योर्तिलिंग के श्रद्धालुओं को दर्शन कराएगी.

  • Share this:
वाराणसी. भगवान शिव के तीन ज्योर्तिलिंगों को जोड़ने वाली देश की तीसरी कॉरपोरेट ट्रेन (Corporate Train) काशी महाकाल एक्सप्रेस (Kashi Mahakal Express) चलने को तैयार है. उम्मीद जताई जा रही है कि इस ट्रेन को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) 16 फरवरी को अपने संसदीय क्षेत्र वाराणसी (Varanasi) से हरी झंडी दिखा सकते हैं. ये ट्रेन वाराणसी में बाबा विश्वनाथ, उज्जैन में महाकालेश्वर और इंदौर में ओंकारेश्वर ज्योर्तिलिंग के श्रद्धालुओं को दर्शन कराएगी. ये ट्रेन देखने में कैसी है, क्या खास सुविधाएं इसकी सबसे पहले एक्सक्लूसिव तस्वीर और जानकारी इस रिपोर्ट के जरिए हम आपको दिखाने जा रहे हैं.

सप्ताह में 2 दिन लखनऊ से होकर गुजरेगी

नाथों के नाथ बाबा विश्वनाथ, काल हरने वाले महाकाल और सर्वमनोकामना पूर्ण करने वाले ओंकारेश्वर के दर्शन जिसको भी हो जाएं, उसी जीवन धन्य माना जाता है. अभी तक तीनो ज्योर्तिलिंगों को जोड़ने वाली सीधी ट्रेन नहीं है लेकिन अब ऐसी ट्रेन का इंतजार काशी महाकाल एक्सप्रेस के साथ खत्म हो जाएगा. जल्द ही वाराणसी से ये ट्रेन चलेगी.

train1
ट्रेन में यात्रियों की सुविधा का विशेष ध्यान रखा गया है.


सप्ताह में तीन दिन इंदौर से वाराणसी के बीच चलने वाली इस AC ट्रेन में यात्रियों के लिए आधुनिक सुविधायें उपलब्ध होंगी. एक दिन ये ट्रेन वाराणसी से इलाहाबाद और कानपुर होकर चलेगी. जबकि दो दिन ये ट्रेन वाराणसी से लखनऊ और फिर कानपुर होकर चलेगी.

Kashi Mahakal train
वॉशरूम में बच्चे के लिए वॉशबेसिन के बगल में डाइपर बदलने की सुविधा


वॉशरूम में बच्चों का रखा गया है खास ख्याल फीचर की बात करें तो ट्रेन 18 डिब्बों की होगी, जिसमे 15 डिब्बे मुसाफिरों के लिए 3rd एसी स्लीपर एलएचबी कोच होंगे. इंटीरियर की बात करें तो आपको ये ट्रेन भी सुखद सफर का एहसास कराएगी. कुछ खास फीचर भी जोड़े गए हैं. मसलन, अगर महिला के साथ उसका बच्चा है तो वॉशरूम में बच्चे के लिए वॉशबेसिन के बगल में डाइपर बदलने और बच्चे के बैठने के लिए प्लास्टिक का बॉक्सनुमा बेबी पॉट बनाया गया है.

Kashi Mahakal train
ट्रेन के हर कोच में सुरक्षा के लिहाज से किए कैमरे लगाए गए हैं.


सीटों में भी किए गए आरामदायक बदलाव

यही नहीं, साइड लोअर सीट में अक्सर दिक्कत होती थी, वो सीट बीच में बंटी होने के कारण उस पर लेटने में दिक्कत होती थी. इसके लिए अलग से एक सीट दी गई है, जिसे लेटते वक्त आप डाल सकते हैं. इसकी सीट भी अन्य बोगियों की तुलना में काफी आरामदायक है. हर सीट पर चार्जिंग प्वाइंट है. कॉमन लाइट के साथ हर सीट पर एक लाइट दी गई है ताकि रात में लाइट जलाने पर दूसरे मुसाफिरों को दिक्कत न हो. यात्रियों का बीमा रहेगा.

Kashi Mahakal train
ट्रेन 18 डिब्बों की होगी, जिसमें 15 डिब्बे मुसाफिरों के लिए 3rd एसी स्लीपर एलएचबी कोच होंगे.


ट्रेन के लिए तत्काल टिकट नहीं मिलेंगे

सुरक्षा के लिहाज से एक कोच में छह कैमरे लगाए गए हैं, जिससे मानिटरिंग होती रहेगी. यही नहीं, कोच के दोनो एंट्री प्वाइंट पर एलईडी स्क्रीन और दो स्पीकर लगाए गए हैं. जिसके जरिए यात्रियों को उनके मंजिल की जानकारी अनाउसमेंट और एलईडी स्क्रीन पर मिल जाएगी. हालांकि ट्रेन में तत्काल टिकट की व्यवस्था नहीं होगी. ट्रेन में सिर्फ जनरल और विदेशी पर्यटकों का कोटा होगा. ट्रेन आईआरसीटीसी की वेबसाइट पर ऑनलाइन बुक होगी.

ये भी पढ़ें:

कैराना से सपा विधायक नाहिद हसन को HC से बड़ी राहत, धोखाधड़ी के मामले में जमानत

आजमगढ़: जिस इलाके से गुजरा था प्रियंका का काफिला, वहीं जमकर लूटपाट

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए इंदौर से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: February 12, 2020, 10:08 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर