लाइव टीवी

वाराणसी से 'कांग्रेस बचाओ अभियान' का आगाज, प्रदेश नेतृत्व से नाराज हैं सीनियर !

News18 Uttar Pradesh
Updated: January 28, 2020, 11:34 PM IST
वाराणसी से 'कांग्रेस बचाओ अभियान' का आगाज, प्रदेश नेतृत्व से नाराज हैं सीनियर !
प्रदेश नेतृत्व से नाराज कांग्रेस के वरिष्ठ सदस्यों ने कांग्रेस बचाओ अभियान का ऐलान किया

कांग्रेस (congress) के वरिष्ठ सदस्यों ने नाराजगी जाहिर करते हुए कहा कि 'देश के संविधान को बचाने के लिए कांग्रेस आंदोलन चला रही है लेकिन सबसे पहले कांग्रेस के संविधान को बचाने की जरूरत है'.

  • Share this:
वाराणसी. कांग्रेस पार्टी (congress party) में एक बार फिर से वरिष्ठ नेताओं ने बगावत का बिगुल बजा दिया है. वरिष्ठ नेताओं की उपेक्षा को लेकर वरिष्ठ कांग्रेस नेता पीएम मोदी (PMModi) के संसदीय क्षेत्र वाराणसी से 'कांग्रेस बचाओ अभियान' की शुरुआत कर रहे हैं. गौरतलब है कि वरिष्ठ नेताओं की पार्टी में हो रही उपेक्षा के विरोध का असर प्रियंका गांधी (Priyanka Gandhi) के दौरे पर भी देखा गया था, जब दो वरिष्ठ कांग्रेस नेता युवा नेताओं से भिड़ गए थे.

लेफ्ट की विचारधारा पर चलने का लगाया आरोप
वाराणसी में आज वरिष्ठ नेताओं की बैठक हुई. इस बैठक में मुख्य रूप से शामिल पूर्व सांसद व प्रदेश युवा कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष संतोष कुमार सिंह व विधान परिषद के सदस्य सिराज मेहंदी, पूर्व गृह राज्य मंत्री पंडित सत्यदेव त्रिपाठी, पूर्व विधायक विनोद कुमार चौधरी के साथ कई अन्य वरिष्ठ नेता शामिल हुए. इन सभी ने एक स्वर में यह आरोप लगाया कि प्रियंका गांधी को भ्रमित किया जा रहा है और अब पार्टी लेफ्ट के नेताओं की विचारधारा पर चल रही है. वरिष्ठ सदस्यों ने रोष प्रकट करते हुए कहा कि 'देश के संविधान को बचाने के लिए कांग्रेस आंदोलन चला रही है लेकिन सबसे पहले कांग्रेस के संविधान को बचाने की जरूरत है'.

'कांग्रेस बचाओ अभियान' के दौरान पूर्वांचल के अलग-अलग जिलों में बैठकें की जाएगीं, जिसमें वरिष्ठ नेता शामिल होंगे. वरिष्ठ कांग्रेसी नेता सत्यदेव त्रिपाठी ने वर्तमान प्रदेश कांग्रेस नेतृत्व के ऊपर आरोप लगाते हुए बताया कि हमने इस विषय पर बात करने के लिए सोनिया गांधी (Sonia Gandhi) से भी समय मांगा है. बताते चलें कि मोदी के संसदीय क्षेत्र में पिछले महीने प्रियंका गांधी ने दौरा किया था. इसी दौरान उन्होंने सीएए को लेकर प्रदर्शन करने वाली आशा कार्यकर्ताओं से प्रियंका गांधी की मुलाकात को लेकर वरिष्ठ नेता श्वेता राय और विनय राय आपस में ही भिड़ गए थे. वाराणसी के पंच गंगा घाट पर जमकर हंगामा भी हुआ था. इस हंगामे के चलते इन दोनों नेताओं को पार्टी आलाकमान से नोटिस भी आ गई थी. श्वेता राय ने इस दौरान भी आरोप लगाया था कि प्रियंका गांधी को भ्रमित किया जा रहा है.

ये भी पढ़ें- पुलिस के खिलाफ मुकदमा दर्ज कराने AMU छात्र जाएंगे सेशन कोर्ट...

कांग्रेस का अनूठा प्रयोग: राहुल गांधी की सभा में QR कोड से लगी कार्यकर्ताओं की हाजिरी

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए वाराणसी से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: January 28, 2020, 11:34 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर