लाइव टीवी

महागठबंधन ने PM मोदी के खिलाफ वाराणसी से इस उम्मीदवार को उतारा

News18Hindi
Updated: April 22, 2019, 10:15 PM IST
महागठबंधन ने PM मोदी के खिलाफ वाराणसी से इस उम्मीदवार को उतारा
शालिनी यादव कांग्रेस के पूर्व सांसद एवं राज्यसभा के पूर्व उपसभापति श्यामलाल यादव की पुत्रवधु हैं.

शालिनी यादव कांग्रेस के पूर्व सांसद एवं राज्यसभा के पूर्व उपसभापति श्यामलाल यादव की पुत्रवधु हैं.

  • News18Hindi
  • Last Updated: April 22, 2019, 10:15 PM IST
  • Share this:
समाजवादी पार्टी ने लोकसभा चुनाव 2019 के लिए सोमवार को दो उम्मीदवारो के नाम की घोषणा की. पार्टी ने चंदौली लोकसभा सीट के साथ-साथ वाराणसी से भी उम्मीदवार की घोषणा कर दी है. सपा ने चंदौली से संजय चौहान जबकि वाराणसी शालिनी यादव को उम्मीदवार बनाया है.

शालिनी यादव वाराणसी में प्रधानमंत्री मोदी को टक्कर देंगी. बता दें कि शालिनी कांग्रेस के पूर्व सांसद एवं राज्यसभा के पूर्व उपसभापति श्यामलाल यादव की पुत्रवधु हैं.



गौरतलब है कि शालिनी यादव वाराणसी से मेयर का चुनाव लड़ चुकी हैं. वह सोमवार को हीसपा में शामिल हुई.
Loading...

वाराणसी में हो सकता है त्रिकोणीय मुकाबला

गौरतलब है कि कांग्रेस ने अभी तक वाराणसी से उम्मीदवार के नाम का ऐलान नहीं किया है. यहां से पार्टी महासचिव प्रियंका गांधी के चुनाव लड़ने की अटकले हैं. प्रियंका गांधी भी इशारा दे चुकी हैं कि वह पीएम मोदी के खिलाफ चुनाव लड़ने के लिए तैयार हैं.

वायनाड में राहुल गांधी के लिए प्रचार करते हुए प्रियंका गांधी ने कहा था, 'अगर राहुल गांधी कहेंगे तो मैं चुनाव लड़ने के लिए तैयार हूं और मैं वाराणसी से लड़ूंगी.' अगर कांग्रेस वाराणसी से प्रियंका को उतारती है तो इस बार इस सीट पर त्रिकोणीय मुकाबला देखने को मिल सकता है.

वाराणसी में पिछले चुनाव का गणित

2014 लोकसभा चुनाव में नरेंद्र मोदी को कुल 5,81,022 वोट मिले थे. दूसरे नंबर पर रहे अरविंद केजरीवाल को 2,09,238 वोट मिले थे. प्रधानमंत्री मोदी के निकटतम प्रतिद्वंदी केजरीवाल थे. मोदी को केजरीवाल से 3 लाख, 77 हजार वोट ज्यादा मिले थे. जबकि कांग्रेस के अजय राय को 75,614 वोट, बीएसपी को तकरीबन 60 हजार 579 वोट, सपा को 45291 वोट मिले थे.

क्या है बनारस का जातीय समीकरण?

बात करें बनारस के जातीय समीकरण की तो यहां पर सबसे ज्यादा बनिया मतादाता हैं, जिनकी संख्या करीब 3.25 लाख हैं. इसके बाद करीब तीन लाख मुस्लिम, ढ़ाई लाख ब्राह्मण, दो लाख पटेल, डेढ़ लाख यादव, सवा लाख भूमिहार, एक लाख राजपूत, 80 हजार चौरसिया, 80 हजार दलित और करीब 70 हजार अन्य पिछड़ी जातियों के मतदाता हैं.

ये भी पढ़ें: वाराणसी में क्या पीएम मोदी को टक्कर दे पाएंगी प्रियंका? जानें सारा समीकरण

एक क्लिक और खबरें खुद चलकर आएगी आपके पास, सब्सक्राइब करें न्यूज़18 हिंदी  WhatsApp अपडेट्स

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए वाराणसी से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: April 22, 2019, 9:56 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...