काशी पहुंचे शंकराचार्य वासुदेवानंद, बोले- विश्वास हो तभी करें Corona वैक्सीन का प्रयोग, अन्यथा नहीं

विश्वास हो तभी करें Corona वैक्सीन का प्रयोग (File photo)

विश्वास हो तभी करें Corona वैक्सीन का प्रयोग (File photo)

अखिल भारतीय संत समिति का दो दिवसीय सम्मेलन में शामिल होने पहुंचे वासुदेवानंद (Vasudevanand) ने विश्वनाथ मंदिर के दर्शन किया.

  • News18Hindi
  • Last Updated: January 4, 2021, 7:27 PM IST
  • Share this:
लखनऊ. कोरोना वैक्सीन (Corona Vaccine) को लेकर लगातार बड़े- बड़े बयान सामने आ रहे हैं. समाजवादी पार्टी के मुखिया अखिलेश यादव (Akhilesh Yadav) के बाद अब खुद शंकराचार्य स्वामी वासुदेवानंद ने भी कोरोना वैक्सीन पर बयान दिया है. सोमवार को वाराणसी पहुंचे हिन्दू धर्म गुरु व ज्योतिष पीठाधीश्वर के शंकराचार्य वासुदेवानंद (Shankaracharya Vasudevanand) ने कहा कि वैक्सीन पर विश्वास हो तभी इसका प्रयोग करें, अन्यथा नहीं करें.हालांकि उन्होंने ये भी कहा कि अभी इसके बारे में वो ज्यादा नहीं जानते.

अखिल भारतीय संत समिति का दो दिवसीय सम्मेलन में शामिल होने पहुंचे वासुदेवानंद ने विश्वनाथ मंदिर के दर्शन किया. मीडिया से बातचीत में उन्होंने कहा कि कोरोना से बचने के लिए सावधानी जरूरी है. मास्क और सेनिटाइजर का प्रयोग करते रहें. इसके साथ ही उन्होंने बड़ा बयान भी दिया. उन्होंने कहा कि वैक्सीन का प्रयोग तभी करें जब उस पर विश्वास हो, अन्यथा नहीं करें.

इससे पहले अखिलेश यादव ने बीजेपी पर तंज कसते हुए कहा कि जो सरकार ताली और थाली बजवा रही थी, वो वैक्सीनेशन के लिए इतनी बड़ी चेन क्यों बनवा रही है. ताली और थाली से ही कोरोना को भगवा दें ना. उन्होंने कहा, "मैं अभी कोरोना वायरस की वैक्सीन नहीं लगवाऊंगा. मैं बीजेपी की वैक्सीन पर कैसे भरोसा कर सकता हूं. जब हमारी सरकार बनेगी तो सभी को मुफ्त वैक्सीन मिलेगी. हम बीजेपी की वैक्सीन नहीं लगवा सकते हैं."

Youtube Video

अखिलेश यादव मांगें माफी- डिप्टी सीएम

इस बयान पर यूपी के डिप्टी सीएम केशव प्रसाद मौर्य ने तीखी प्रतिक्रिया दी है. उन्होंने कहा है अखिलेश यादव को वैक्सीन पर भरोसा नहीं है, वहीं उत्तर प्रदेश वासियों को समाजवादी पार्टी के अध्यक्ष अखिलेश यादव पर भरोसा नहीं है. उन्होंने कहा कि अखिलेश यादव का वैक्सीन पर सवाल उठाना हमारे देश के चिकित्सकों एवं वैज्ञानिकों का अपमान है. मौर्य ने कहा कि अखिलेश यादव को अपने बयान के लिए माफ़ी मांगनी चाहिए.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज