Home /News /uttar-pradesh /

कनाडा से दिल्ली पहुंची मां अन्नपूर्णा की मूर्ति, सुरेश राणा करेंगे रिसीव; शोभायात्रा के साथ पहुंचेगी वाराणसी

कनाडा से दिल्ली पहुंची मां अन्नपूर्णा की मूर्ति, सुरेश राणा करेंगे रिसीव; शोभायात्रा के साथ पहुंचेगी वाराणसी

दिल्ली में 11 नवंबर को आयोजित एक कार्यक्रम में केंद्रीय मंत्री जी किशन रेड्डी इस मूर्ति को यूपी सरकार के मंत्री सुरेश राणा को प्रदान करेंगे.

दिल्ली में 11 नवंबर को आयोजित एक कार्यक्रम में केंद्रीय मंत्री जी किशन रेड्डी इस मूर्ति को यूपी सरकार के मंत्री सुरेश राणा को प्रदान करेंगे.

Statue of mother Annapurna: 100 वर्ष पहले मां अन्नपूर्णा (Mother Annapurna) देवी की मूर्ति वाराणसी से चोरी होकर कनाडा चली गयी थी. अब वह मूर्ति भारत वापस आ गई है. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (Narendra Modi) ने लगातार प्रयास करके कनाडा सरकार के साथ संपर्क स्थापित करके इस मूर्ति को वापस मंगाया है. अब इस मां अन्नपूर्णा देवी की इस मूर्ति को वाराणसी में फिर से स्थापित किया जाएगा. इसको लेकर बाकायदा केंद्र सरकार 11 नवंबर को दिल्ली में कार्यक्रम करेगी जिसमें केंद्रीय मंत्री जी किशन रेड्डी इस मूर्ति को उत्तर प्रदेश सरकार को सौंपेंगे. उत्तर प्रदेश सरकार की तरफ से मंत्री सुरेश राणा (Suresh Rana) मूर्ति को रिसीव करेंगे.

अधिक पढ़ें ...

दिल्ली/वाराणसी. 100 वर्ष पहले मां अन्नपूर्णा (Mother Annapurna) देवी की मूर्ति वाराणसी से चोरी होकर कनाडा चली गयी थी. अब वह मूर्ति भारत वापस आ गई है. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (Narendra Modi) ने लगातार प्रयास करके कनाडा सरकार के साथ संपर्क स्थापित करके इस मूर्ति को वापस मंगाया है. अब इस मां अन्नपूर्णा देवी की इस मूर्ति को वाराणसी में फिर से स्थापित किया जाएगा. इसको लेकर बाकायदा केंद्र सरकार 11 नवंबर को दिल्ली में कार्यक्रम करेगी जिसमें केंद्रीय मंत्री जी किशन रेड्डी इस मूर्ति को उत्तर प्रदेश सरकार को सौंपेंगे. उत्तर प्रदेश सरकार की तरफ से मंत्री सुरेश राणा (Suresh Rana) मूर्ति को रिसीव करेंगे. इसके लिए दिल्ली में बड़े कार्यक्रम का आयोजन कराया जाएगा. इसके लिए मंत्रालय द्वारा योजना तैयार कराई जा रही है.

मां अन्नपूर्णा देवी की मूर्ति को सड़क मार्ग से दिल्ली से वाराणसी ले जाया जाएगा. यूपी की योगी सरकार द्वारा निर्देश दिया गया है कि मूर्ति को शोभायात्रा निकालते हुए दिल्ली से वाराणसी ले जाया जाए. सड़क मार्ग से जिन-जिन जगहों से यह शोभायात्रा निकलेगी, वहां इसका स्वागत किया जाएगा. योगी सरकार के द्वारा इसकी तैयारी के लिए सभी अधिकारियों को निर्देश दिए जा चुके हैं.

भगवान शिव की नगरी काशी को अन्न क्षेत्र भी कहा जाता है. भगवान शिव ने काशी में मां अन्नपूर्णा से भिक्षा मांगी थी, इसलिए काशी में मां अन्नपूर्णा का विशेष महत्व है. मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ (Yogi Adityanath) सदियों पहले काशी से गायब हुई मां अन्नपूर्णा की मूर्ति की प्राण प्रतिष्ठा काशी में करने वाले हैं. पीएम के मार्गदर्शन पर मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ मां अन्नपूर्णा की मूर्ति की प्राण प्रतिष्ठा विशेष मुहूर्त में पूरे विधि विधान से करेंगे. अन्नपूर्णा जी की मूर्ति के एक हाथ में अन्न और दूसरे में खीर है.

11 नवंबर को दिल्ली से चलकर 14 नवंबर को यह शोभायात्रा वाराणसी पहुंचेगी और वहां 15 नवंबर को वाराणसी में इसकी स्थापना कराई जाएगी. यह मूर्ति काशी विश्वनाथ धाम के प्रांगण में स्थापित की जा सकती है. 11 नवंबर को मूर्ति दिल्ली से सुसज्जित वाहन से शोभायात्रा के रूप में चलेगी. यह 12 को सोरों, कासगंज में रुकेगी. 13 को कानपुर, 14 को अयोध्या में रहेगी और 15 नवंबर को वाराणसी पहुंचेगी. सूत्रों के मुताबिक मां अन्नपूर्णा की मूर्ति को काशी विश्वनाथ मंदिर में स्थापित किया जाएगा. खुद योगी आदित्यनाथ इस मूर्ति की पूजा करेंगे.

Tags: Government of Uttar Pradesh, Narendra modi, Varanasi news, Yogi adityanath, Yogi adityanath news

विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर