Home /News /uttar-pradesh /

काशी विश्वनाथ धाम में गूंजेगी शिव और काशी की कहानी, जानिए 'मणिमाला' पत्थरों की खासियत

काशी विश्वनाथ धाम में गूंजेगी शिव और काशी की कहानी, जानिए 'मणिमाला' पत्थरों की खासियत

Varanasi: मोक्षनगरी काशी में कैसे शिव तारक मंत्र देकर जन्म मृत्यु के बंधन से मुक्ति दिलाते हैं.

Varanasi: मोक्षनगरी काशी में कैसे शिव तारक मंत्र देकर जन्म मृत्यु के बंधन से मुक्ति दिलाते हैं.

Kashi Vishwanath Temple News: पूरी मणिमाला में अष्ट भैरव, 56 विनायक और 64 योगिनियों तक के दर्शन और उनका प्रसंग सहेजा गया है. यकीन मानिए कि जब आप श्रीकाशी विश्वनाथ के गर्भगृह से निकलेंगे तो इस गलियारे में जाकर काशी की महिमा खुद ब खुद गुनगुनाने लगेंगे. इसके लिए काशी विद्त परिषद के महामंत्री प्रो रामनारायण दिवेदी के नेतृत्व में आचार्यों की टीम ने शास्त्र पुराण, वेद और उपनिषद से ये जानकारियां जुटाई हैं.

अधिक पढ़ें ...

वाराणसी. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) वाराणसी (Varanasi) के श्रीकाशी विश्वनाथ धाम (Kashi Vishwanath Dham) का 13 दिसंबर को लोकार्पण करेंगे. गंगधार से लेकर बाबा दरबार तक पूरा धाम अपनी अनेक खूबियों के लिए इन दिनो चर्चा में है. इन्हीं तमाम खासियतों में एक खासियत होगी बाबा के गले में मंदिरों की मणिमाला के वो पत्थर जो खुद ब खुद शिव और काशी की पूरी कहानी सुनाएंगे. विश्वनाथ मंदिर के गर्भगृह के बाहर परिक्रमा पथ से सटा नक्काशीदारों पत्थरों से सुशोभित एक गलियारा बनाया गया है, जिसे मणिमाला कहा जाएगा. इस गलियारे में उन देवी देवताओं को स्थापित किया जाएगा जो कि विश्वनाथ धाम के निर्माण में अधिग्रहित किए गए भवनों के अंदर से मिले थे.

इस पूरे इलाके को मंदिर चौक का नाम दिया गया है. जब ऊपर से आप इस तस्वीर को देखेंगे तो ऐसा लगेगा कि बाबा विश्वनाथ अपने गले में मंदिरों की पूरी मणिमाला धारण किए हुए हैं. हर मंदिर की दीवार पर संगममर के 42 पैनलों के जरिए शिव और काशी की कहानी सुनाई जाएगी. इसमे 20 पैनल चित्रात्मक यानी पिक्टोरियल हैं. इसके जरिए बताया गया है कि कैसे शिव काशी आए, फिर ढुंढिराज गणेश ने कैसे स्तुति गाई. यही नहीं, मां पार्वती के साथ कैलाश वास और मोक्षनगरी काशी में कैसे शिव तारक मंत्र देकर जन्म मृत्यु के बंधन से मुक्ति दिलाते हैं, सभी का शास्त्र पुराण के पन्नों के मुताबिक जिक्र किया गया है.

Kushinagar: कबीर आश्रम में रहने वाली साध्वी की निर्मम हत्या से मचा हड़कंप, आरोपी गिरफ्तार

पूरी मणिमाला में अष्ट भैरव, 56 विनायक और 64 योगिनियों तक के दर्शन और उनका प्रसंग सहेजा गया है. यकीन मानिए कि जब आप श्रीकाशी विश्वनाथ के गर्भगृह से निकलेंगे तो इस गलियारे में जाकर काशी की महिमा खुद ब खुद गुनगुनाने लगेंगे. इसके लिए काशी विद्त परिषद के महामंत्री प्रो रामनारायण दिवेदी के नेतृत्व में आचार्यों की टीम ने शास्त्र पुराण, वेद और उपनिषद से ये जानकारियां जुटाई हैं.

Tags: CM Yogi, Kashi Vishwanath Temple, PM Modi, Pm narendra modi, UP news, Varanasi DM, Varanasi news, वाराणसी

विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर