होम /न्यूज /उत्तर प्रदेश /

UP: काबुल से सकुशल लौटे चंदौली के सूरज चौहान, बोले- भारत सरकार की वजह से मिला नया जीवन

UP: काबुल से सकुशल लौटे चंदौली के सूरज चौहान, बोले- भारत सरकार की वजह से मिला नया जीवन

UP: काबुल से सकुशल लौटे चंदौली के सूरज चौहान

UP: काबुल से सकुशल लौटे चंदौली के सूरज चौहान

दरअसल, सूरज चौहान जनवरी 2021 में काबुल में एक स्टील फैक्ट्री में वेल्डर का काम करने गए थे. तालिबान के हमले के बाद सूरज समेत उत्तर प्रदेश (UP) के करीब 18 लोग फैक्ट्री में फंसे हुए थे.

चंदौली. अफगानिस्तान में फंसे यूपी के चंदौली (Chandauli) जिले के अमोघपुर गांव निवासी सूरज चौहान सकुशल घर वापस लौट आए हैं. भारतीय वायुसेना के विमान से काबुल से सूरज की भारत वापसी हुई. सूरज के सकुशल घर लौटने के बाद उनके परिजन काफी खुश हैं. खुशी के मारे पिता की आंखों में आंसू छलक गए. सूरज ने पिता का मुंह मीठा कराया. सूरज और उनके परिजनों ने भारत सरकार का धन्यवाद किया है.

सूरज ने बताया कि काबुल में जहां वो फंसे हुए थे. वहां भारत के कुल 18 लोग फंसे थे. जिंसमे कुल 14 लोग यूपी के थे. सूरज के साथ यूपी के सभी लोगों की घर वापसी हो गई है. वहीं अगर अफगानिस्तान की बात की जाए तो सूरज उस मंजर को याद नहीं करना चाहते. उनका कहना है कि जो मंजर अफगानिस्तान का था जो हमने भयावह स्थिति देखी है. आजतक नहीं देखी थी. दुआ करता हूं कि ऐसी स्थिति में कभी कोई न फंसे.

अब कभी नहीं जाऊंगा अफगानिस्तान
सूरज ने बताया कि भारत सरकार पर भरोसा था. सरकार ने भरोसा टूटने नहीं दिया और उनकी सकुशल घर वापसी कराई. अफगानिस्तान से वापसी के बाद सूरज ने बताया कि अब कभी भी वो अफगानिस्तान नहीं जाना चाहेंगे. जब उनसे अफगानिस्तान के कारण के बारे में बात की गई तो सूरज ने बताया की लॉकडाउन के कारण उनकी नौकरी चली गई. परिवार का भरण पोषण करने के लिए सूरज को नौकरी की जरूरत थी. जिसके लिए सूरज अफगानिस्तान गए थे. उन्होंने बताया कि अगर हमको यहीं रोजगार मिल जाता तो वो विदेश नहीं जाते.

वीडियो कॉल से मांगी थी मदद
दरअसल, सूरज चौहान जनवरी 2021 में काबुल में एक स्टील फैक्ट्री में वेल्डर का काम करने गए थे. तालिबान के हमले के बाद सूरज समेत उत्तर प्रदेश के करीब 18 लोग फैक्ट्री में फंसे हुए थे. अफगानिस्तान पर तालिबान के कब्जे के बाद सूरज के परिजनों में कोहराम मच गया था. परिजनों में डर का माहौल था. सूरज किसी तरह व्हाट्सएप पर वीडियो कॉल के माध्यम से संपर्क कर रहा था. सूरज के परिजनों ने भारत सरकार उसे सकुशल वापस लाने की गुहार लगाई थी. भारत सरकार की कोशिशों के बाद विमान से कल यानी रविवार के दिन सूरज सहित उसके साथ फंसे 14 लोगों को काबुल से गाजियाबाद के हिंडन एयरबेस लाया गया. ट्रेन से सूरज अपने घर पहुंचा.

Tags: Afganistan, Chandauli, CM Yogi, Kabul, Kabul Airport, PM Modi, PMO, UP news, Varanasi news

विज्ञापन

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर