दो गज की दूरी, मास्क है जरूरी: कोरोना से लड़ाई में पीएम ने वाराणसी को दिया संदेश

पीएम मोदी ने अधिकारियों को पृथक-वास में रह रहे मरीजों और उनके परिवारों के प्रति जिम्मेदारियों का संवेदनशील तरीके से निर्वहन का निर्देश दिया. (File pic)

पीएम मोदी ने अधिकारियों को पृथक-वास में रह रहे मरीजों और उनके परिवारों के प्रति जिम्मेदारियों का संवेदनशील तरीके से निर्वहन का निर्देश दिया. (File pic)

PM Modi Covid-19 Review Meet: बैठक में पीएम को बताया गया कि वाराणसी में अभी तक 1,98,383 व्यक्तियों को कोविड-19 टीके की पहली और 35,014 व्यक्तियों को दूसरी खुराक लगाई जा चुकी है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: April 18, 2021, 4:11 PM IST
  • Share this:
वाराणसी. प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी (PM Narendra Modi) ने वाराणसी जिले में कोविड-19 संबंधी (Covid-19) स्थिति की रविवार को समीक्षा की और लोगों से मास्क लगाने और सामाजिक दूरी का पालन सुनिश्चित करने की अपील की. वाराणसी सूचना विभाग ने जानकारी दी कि प्रधानमंत्री ने वीडियो कांफ्रेंस के जरिए हुई समीक्षा बैठक में कहा कि सभी लोगों को कोरोना वायरस से बचाव के लिए आवश्यक ‘‘दो गज की दूरी, मास्क है जरूरी‘‘ का पालन करना चाहिए.

पीएम मोदी ने टीकाकरण अभियान के महत्व पर बल देते हुए अधिकारियों से कहा कि प्रशासन 45 साल से ज्यादा की उम्र के सभी लोगों को टीकाकरण हेतु जागरुक करे. प्रधानमंत्री ने देश के चिकित्साकर्मियों का आभार व्यक्त करते हुए कहा कि संकट की इस घड़ी में वे अपने कर्तव्य का निष्ठापूर्वक पालन कर रहे हैं. उन्होंने लोगों से पूरी सावधानी बरतने की अपील की.

वाराणसी  में ICU और ऑक्सीजन की उपलब्धता को बढ़ाया जा रहा: PM

पीएम मोदी ने कहा कि वाराणसी में पिछले पांच-छह साल में चिकित्सकीय ढांचागत सुविधाओं के विस्तार और आधुनिकीकरण से कोरोना वायरस से लड़ने में सहायता मिली है और जिले में बिस्तरों, आईसीयू और ऑक्सीजन की उपलब्धता को बढ़ाया जा रहा है. उन्होंने कहा कि वाराणसी प्रशासन ने जिस तरह तेजी के साथ ‘काशी कोविड रिस्पांस सेंटर’ स्थापित किया है, उतनी ही तेजी हर कार्य में लायी जानी चाहिए.
प्रधानमंत्री ने कहा कि संक्रमण की पहली लहर की तरह इस बार भी वायरस से निपटने के लिए ‘‘जांच करने, संक्रमितों के संपर्क में आए लोगों का पता लगाने और उपचार करने’’ की रणनीति अपनानी होगी. उन्होंने संक्रमित व्यक्तियों के संपर्क में आए लोगों का शीघ्र पता लगाए जाने और जांच रिपोर्ट जल्द से जल्द उपलब्ध कराए जाने पर भी बल दिया.

मोदी ने अधिकारियों को पृथक-वास में रह रहे मरीजों और उनके परिवारों के प्रति जिम्मेदारियों का संवेदनशील तरीके से निर्वहन का निर्देश दिया. प्रधानमंत्री ने वाराणसी स्वयंसेवी संगठनों की प्रशंसा करते हुए कहा कि उन्होंने जिस प्रकार सरकार के साथ कदम मिलकर कार्य किया है, वह सराहनीय है. इस दौरान वाराणसी क्षेत्र के जन प्रतिनिधियों और अधिकारियों ने प्रधानमंत्री को कोविड-19 से बचाव और उसके उपचार हेतु की गयी तैयारियों से अवगत कराया.





प्रधानमंत्री को सूचित किया गया कि वाराणसी में अभी तक 1,98,383 व्यक्तियों को कोविड-19 टीके की पहली और 35,014 व्यक्तियों को दूसरी खुराक लगाई जा चुकी है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज