Home /News /uttar-pradesh /

Explainer: वाराणसी के घाटों पर अब भी सिल्ट का अंबार,देव दीवाली का रंग ना हो जाए फीका

Explainer: वाराणसी के घाटों पर अब भी सिल्ट का अंबार,देव दीवाली का रंग ना हो जाए फीका

वाराणसी

वाराणसी के घाटों पर अब भी सिल्ट का अंबार

बाबा विश्वनाथ की नगरी काशी (Kashi) में देव दीवाली को लेकर तैयारी जारी है.19 नवम्बर को 12 लाख दीपों से काशी के 84 घाट जगमग होंगे.देव दीवाली (Dev Diwali) में महज 2 दिन का वक्त बचा है लेकिन अब भी वाराणसी (Varanasi) के तमाम घाटों पर गंदगी और सिल्ट का अंबार है. 

अधिक पढ़ें ...

    बाबा विश्वनाथ की नगरी काशी (Kashi) में देव दीवाली को लेकर तैयारी जारी है.19 नवम्बर को 12 लाख दीपों से काशी के 84 घाट जगमग होंगे.देव दीवाली (Dev Diwali) में महज 2 दिन का वक्त बचा है लेकिन अब भी वाराणसी (Varanasi) के तमाम घाटों पर गंदगी और सिल्ट का अंबार है. इनमे अस्सी,रीवा,गंगा महल,तुलसी,अहिल्याबाई सहित अन्य घाट शामिल है.घाटों की सीढ़ियों पर जमे ये सिल्ट देव दीवाली के रंग में भंग डाल सकती है. इससे न सिर्फ घाटों पर दीपों को सजाने में आयोजकों को परेशानी होगी बल्कि देव दीवाली का दीदार करने वाले पर्यटकों को भी देव दीवाली के दिन घाट पर भ्रमण के दौरान मुश्किलों का सामना करना पड़ेगा.

    हालांकि वाराणसी के घाटों की सफाई के लिए नगर निगम (Nagar Nigam) से लेकर सामाजिक संस्थाए और स्थानीय नाविकों ने मदद के लिए हाथ बढ़ाया है और वो सफाई में जुटे हैं. नगर निगम की ओर से अलग अलग घाटों पर इसके लिए पम्प भी लगाया गया है. खुद सफाई व्यवस्था का जायजा लेने के लिए बीते दिनों नगर आयुक्त प्रणय सिंह ने घाटों का निरीक्षण किया था. लेकिन अभी तक घाटों की सफाई का काम पूरा नहीं हो पाया है.

    Tags: Varanasi news

    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर