PM मोदी ने काशी की दो बेटियों को दिलाई भारत की नागरिकता, 24 साल से परेशान था परिवार

1995 में मां-बाप के साथ भारत आई दोनों बहनों को 24 साल के बाद भारत की नागरिकता मिली है.

News18 Uttar Pradesh
Updated: May 15, 2019, 7:11 AM IST
PM मोदी ने काशी की दो बेटियों को दिलाई भारत की नागरिकता, 24 साल से परेशान था परिवार
निदा नसीम और माहेरूख नसीम
News18 Uttar Pradesh
Updated: May 15, 2019, 7:11 AM IST
पाकिस्तान में जन्मीं काशी की दो बेटियां निदा नसीम और माहरूख नसीम पहली बार लोकतंत्र के महापर्व में शामिल होंगी. चुनाव से पहले उन्हें भारतीय नागरिकता मिल गई है और वोटर लिस्ट में नाम भी जुड़ गया है. दोनों बहनों की नागरिकता के लिए उसका परिवार करीब 24 सालों से संघर्षरत था. कभी कागजों पर इनकी नागरिकता पाकिस्तान से जुड़ी थी लेकिन आज ये भारतीय हैं और इन सबका श्रेय ये प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को दे रही हैं और उनका धन्यवाद कर रही हैं.

काशी की दोनों बेटियों  का जन्म पाकिस्तान में हुआ था. उनकी मां पाकिस्तान और पिता भारत के हैं. दोनों बहनें 1995 में मां-बाप के साथ भारत आई. निदा ने बताया कि नागरिकता में पाकिस्तानी लिखना काफी तकलीफदेह लगता था और अब उन्हें जल्द ही पासपोर्ट भी मिल जाएगा.

निदा और माहरुख के पिता नसीम अख्तर टॉफी बिस्कुट के कारोबारी हैं और नया पानदरीबा निवासी हैं. 1989 में उनकी शादी कराची की रहने वाली शाहीन से हुई थी. 1992 में निदा का और 1995 में माहरुख का जन्म हुआ. 1995 के बाद शाहीन वाराणसी आ गई. उसे 2007 में ही भारत की नागरिकता मिल गई. वहीं, दोनों बेटियों को भारत की नागरिकता दिलाने के लिए लखनऊ, दिल्ली का चक्कर लगता रहा.जब प्रधानमंत्री 2014 में वाराणसी से सांसद बने और रविंद्रपुरी में संसदीय कार्यालय खुला तो दोनों बहनों ने वहां गुहार लगाई और कार्यालय के कार्यकर्ता के सहयोग से आज इन दोनों बहनों को भारत का नागरिक होने का गौरव प्राप्त हुआ है. इसी साल 23 मार्च को दोनों बहनों को भारत की नागरिकता मिल गई. आज ये दोनों बहनें प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का धन्यवाद कर रही हैं.

बड़ी बहन निदा नसीम बीएड की पढ़ाई कर रही हैं और शिक्षिका बनना चाहती हैं. इसके साथ ही माहरूख नसीम बीएचयू में एमकाम फाइनल ईयर की छात्रा हैं.

ये भी पढ़ें:

पीली साड़ी वाली महिला: पति की हो चुकी है मौत, बेटे के लिए फिल्मों का ऑफर ठुकराया

खुलासा: देवरिया जेल की बैरक नंबर-7 में सजता था अतीक अहमद का दरबार

एक क्लिक और खबरें खुद चलकर आएंगी आपके पास, सब्सक्राइब करें न्यूज़18 हिंदी  WhatsApp अपडेट्स
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर

वोट करने के लिए संकल्प लें

बेहतर कल के लिए#AajSawaroApnaKal
  • मैं News18 से ई-मेल पाने के लिए सहमति देता हूं

  • मैं इस साल के चुनाव में मतदान करने का वचन देता हूं, चाहे जो भी हो

    Please check above checkbox.

  • SUBMIT

संकल्प लेने के लिए धन्यवाद

जिम्मेदारी दिखाएं क्योंकि
आपका एक वोट बदलाव ला सकता है

ज्यादा जानकारी के लिए अपना अपना ईमेल चेक करें

डिस्क्लेमरः

HDFC की ओर से जनहित में जारी HDFC लाइफ इंश्योरेंस कंपनी लिमिटेड (पूर्व में HDFC स्टैंडर्ड लाइफ इंश्योरेंस कंपनी लिमिटेड). CIN: L65110MH2000PLC128245, IRDAI R­­­­eg. No. 101. कंपनी के नाम/दस्तावेज/लोगो में 'HDFC' नाम हाउसिंग डेवलपमेंट फाइनेंस कॉर्पोरेशन लिमिटेड (HDFC Ltd) को दर्शाता है और HDFC लाइफ द्वारा HDFC लिमिटेड के साथ एक समझौते के तहत उपयोग किया जाता है.
ARN EU/04/19/13626

News18 चुनाव टूलबार

  • 30
  • 24
  • 60
  • 60
चुनाव टूलबार