अनोखा हेलमेट: PM मोदी की तस्वीर देख बोलता है वंदे मातरम, दुश्मन सामने आए तो दागता है गोलियां

वाराणसी के युवा इनोवेटर श्याम ने इस अनोखे हेलमेट को 50 हजार रुपये की लागत से बनाया है.

वाराणसी के युवा इनोवेटर श्याम ने इस अनोखे हेलमेट को 50 हजार रुपये की लागत से बनाया है.

Smart Defense Helmet: ये स्मार्ट हेलमेट महज कुछ ही मिनटों में ताबड़तोड़ गोलियों की बौछार कर सकता है. रेडियो फ्रिक्वेंसी सिस्टम पर आधारित ये हेलमेट बिजली के साथ-साथ सोलर ऊर्जा से भी काम करता है.

  • Share this:
वाराणसी. सीमा पर तैनात भारतीय फौज (Indian Army) की रक्षा के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) के संसदीय क्षेत्र काशी के एक युवा इनोवेटर ने अनोखा हेलमेट (Helmet) बनाया है. यह हेलमेट जवानों को अलर्ट मैसेज भेजने में सक्षम है, बल्कि इमरजेंसी के वक्त गोलियां भी बरसा सकता है. ये डिवाइस बॉर्डर पर दुश्मन के घुसने से पहले जवानों को अलर्ट करेगी. साथ ही रिमोट ट्रिगर के जरिए जवान दुश्मनों पर इसकी मदद से गोलियों की बौछार भी कर सकेंगे. खास बात ये है कि इस हेलमेट के सामने जैसे ही पीएम मोदी की तस्वीर आती है तो ये वंदे मातरम का उद्घोष करने लगता है. इस खास डिवाइस को तैयार करने वाले ने इसे 'स्मार्ट डिफेंस हेलमेट' का नाम दिया है.

ये अनोखा स्मार्ट हेलमेट महज कुछ ही मिनटों में ताबड़तोड़ गोलियों की बौछार कर सकता है. यही नहीं रेडियो फ्रिक्वेंसी सिस्टम पर आधारित ये डिवाइस बिजली के साथ ही सोलर ऊर्जा से भी काम करता है. लंबी रिसर्च के बाद इसे बनाने में करीब डेढ़ साल का वक्त लगा है. इसे तैयार करने में 50 हजार का खर्च आया है.

क्या कहना है युवा इनोवेटर श्याम का?



इस सेल्फ डिफेंस हेलमेट को बनाने वाले श्याम का कहना है कि जब इसे बड़े पैमाने पर बनाया जाएगा तो जाहिर तौर पर लागत कम हो जाएगी. इसको बनाने का विचार श्याम को तब आया, जब वो अक्सर अखबारों और टीवी चैनल पर ऐसी खबरें देखते थे कि गलती से जवान दुश्मन सीमा को पार कर गए और वहां उनको जासूस या घुसपैठिया बताकर जेल में डाल दिया गया. यातनाएं दी गईं. उन्होंने बताया कि इस हेलमेट को नार्मल हेलमेट पर ही विकसित किया गया है. इसमें ट्रांसमीटर, रिसीवर, आर्डिनो सर्किट, एलईडी इंडिकेटर, स्पीकर, ओडियो सर्किट, प्रोग्रामिंग सॉफ्टवेयर लगे हैं.
Youtube Video


जवानों को इन दुर्घटनाओं से बचाने के लिए श्याम ने इस डिवाइस पर काम करना शुरू किया. ये डिवाइस पूरी तरह रेडियो फ्रिक्वेंसी सिस्टम पर आधारित है. बॉर्डर एरिया में तैनात जवानों को दुश्मन सीमा में प्रवेश से पहले ही एक ऑडियो मैसेज आएगा, जो जवानों को बताएगा कि ये दुश्मन की सीमा है और अलर्ट हो जाइए. जिसकी मदद से समय रहते जवान अलर्ट हो जाएंगे और वो दुश्मन सीमा में दाखिल होने से बच जाएंगे. इसके अलावा इस 'स्मार्ट डिफेंस हेलमेट' में लगे ट्रिगर से जवान फायरिंग भी कर सकते हैं. खास बात ये है कि इस हेलमेट के सामने जैसे ही पीएम मोदी की तस्वीर आती है तो ये वंदे मातरम का उदघोष करने लगता है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज