लाइव टीवी

वाराणसी की यह अनोखी लाइब्रेरी प्रदूषण के खिलाफ लोगों को कर रही जागरूक

News18 Uttar Pradesh
Updated: November 4, 2019, 7:58 PM IST
वाराणसी की यह अनोखी लाइब्रेरी प्रदूषण के खिलाफ लोगों को कर रही जागरूक
वाराणसी के युवाओं ने खोली अनोखी लाइब्रेरी यहां आने वाले हर इंसान को भेंट करते हैं पौधे

इस लाइब्रेरी में पर्यावरण संबंधी किताबें भी मौजूद हैं लेकिन पौधे ज्यादा संग्रहित किए गए हैं. लाइब्रेरी से जुड़े युवाओं ने बताया कि वो इन पौधों को कड़ी मेहनत से तैयार करते हैं और फिर इन्हें फ्री में बांटते हैं. उनका इरादा सिर्फ इतना है कि पर्यावरण को किसी तरह अपनी आने वाली नस्लों के लिए बचाना है.

  • Share this:
वाराणसी. पूरे देश की तरह वाराणसी (Varanasi) की आबोहवा भी इस वक्त बेहद खराब है. आलम ये है कि वाराणसी में एयर क्वालिटी इंडेक्स (air quality index) 400 के पार पहुंच गया है. इस वजह से निजी से लेकर सरकारी अस्पतालों तक सांस के मरीजों की संख्या बढ़ गई है. वाराणसी के डीएम को प्रदूषण पर आपात बैठक बुलानी पड़ गई और देर से जागे प्रदूषण नियंत्रण विभाग ने चार संस्थानों को नोटिस देकर 50-50 हजार का जुर्माना भी लगाया है. लेकिन इन सबके बीच कुछ युवाओं की टोली ने आम लोगों में प्रदूषण के खिलाफ जागरूकता बढ़ाने का जिम्मा उठाया है. तो उनका साथ देने बनारस के सामान्य लोग भी मैदान में उतर रहे हैं.

अनूठी पहल
पर्यावरण को सुरक्षित बनाने के लिए बनारस के इन युवाओं ने एक अनोखी लाइब्रेरी खोली है. उनका दावा है कि आने वाले समय में ये लाइब्रेरी प्रदूषण से लड़ाई में अचूक हथियार साबित होगी. लाइब्रेरी मतलब तो किताबें होती है तो फिर प्रदूषण से इसका क्या लेना-देना ? ये सवाल उठना लाजमी है. तो इसका जवाब news 18 से बातचीत में ये युवा देते हैं. उनका दावा है कि वाराणसी की इस अनोखी लाइब्रेरी को आपने इससे पहले कहीं नहीं देखा होगा. सड़क किनारे एक दीवार पर बनी ये लाइब्रेरी किताबों से नहीं बल्कि पौधों से सजी है जो इस वक्त बनारस में चर्चा का विषय बनी हुई है. इस लाइब्रेरी में पर्यावरण संबंधी किताबें भी मौजूद हैं लेकिन पौधे ज्यादा संग्रहित किए गए हैं. लाइब्रेरी से जुड़े युवाओं ने बताया कि वो इन पौधों को कड़ी मेहनत से तैयार करते हैं और फिर इन्हें फ्री में बांटते हैं. उनका इरादा सिर्फ इतना है कि पर्यावरण को किसी तरह अपनी आने वाली नस्लों के लिए बचाना है.

वाराणसी के युवाओं ने अस्सी इलाके की एक दीवार पर खोली अनोखी लाइब्रेरी


छोटा सा प्रयास
वाराणसी के अस्सी इलाके में बनी ये लाइब्रेरी बनारस के ही चार युवकों ने बनाई है. लाइब्रेरी चलाने वाले आशीष बताते हैं कि हवा की इस हालत को देखते हुए इससे बचाव के तरीकों को ढूंढते हुए हमें ये आइडिया आया है. वहीं अनुराग बताते हैं कि अगर आज हमने कोशिश नहीं की तो हमारी अगली पीढ़ी हमें कोसेगी. इन युवाओं का कहना है कि पर्यावरण के हालात को देखते हुए काफी मंथन के बाद हमें ये विचार आया कि अपने बिजी शेड्यूल में आम आदमी को पौधे खरीदने का समय नही मिल पाता है ऐसे में इन्होंने इस लाइब्रेरी को खोला और इसमें पौधे रखना शुरू कर दिया. इन युवाओं का कहना है कि इस पौधे को यहां आने वाले हर नागरिक को फ्री में दिया जाता है. इन युवकों के इस प्रयास की स्थानीय लोग भी सराहना कर रहे हैं.

इन युवकों ने बनारस में पर्यावरण को बचाने के लिए ऐसी लाइब्रेरी को अन्य स्थानों पर भी खोलने का निर्णय लिया है. जिसके लिए बाकायदा इन्होंने एक संस्था भी गठित की है. युवकों के इस प्रयास से भले ही पर्यावरण को अभी राहत न मिले लेकिन अगर इनका ये प्रयास जारी रहा और इसमें लोग जुड़ते गए तो हमारी अगली पीढ़ी के लिए शायद हम कुछ ताजा सांसे बचा पाएं.
Loading...

ये भी पढ़ें - मेरठ: वैज्ञानिकों का दावा- गीर व कांकरेज गाय किसानों की आमदनी कई गुना बढ़ाएगी !

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए वाराणसी से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: November 4, 2019, 7:58 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...