Unlock 1.0: अब बनारस से दिल्ली लौटने वालों की भीड़, शिवगंगा में पहले ही दिन वेटिंग
Varanasi News in Hindi

Unlock 1.0: अब बनारस से दिल्ली लौटने वालों की भीड़, शिवगंगा में पहले ही दिन वेटिंग
वाराणसी से आज चलेगी पहली ट्रेन

आज सोमवार को वाराणसी के कैंट रेलवे स्टेशन से कोई ट्रेन नहीं चलाई जाएगी. केवल दोपहर करीब तीन बजे श्रमजीवी एक्सप्रेस कैंट रेलवे स्टेशन पर रुकते हुए गुजरेगी.

  • Share this:
वाराणसी. लॉकडाउन 5.0 (Lockdown 5) की शुरुआत के साथ ही सोमवार से देशभर में ट्रेनें शुरू हो गई हैं. इसी कड़ी में वाराणसी (Varanasi) में पूरी तैयारी के बीच रेलवे का पहिया घूमने लगा. हालांकि कैंट स्टेशन से आज सिर्फ एक ट्रेन होकर गुजरेगी, जबकि मंडुवाडीह से आज शाम को चलने वाली शिवगंगा एक्सप्रेस (Shivganga Express) में वेटिंग है. यानी लोग अब दिल्ली को वापस भी लौटने लगे हैं. आज सोमवार को वाराणसी के कैंट रेलवे स्टेशन से कोई ट्रेन नहीं चलाई जाएगी. केवल दोपहर करीब तीन बजे श्रमजीवी एक्सप्रेस कैंट रेलवे स्टेशन पर रुकते हुए गुजरेगी. श्रमजीवी के ठहराव के दौरान प्लेटफार्म नंबर पांच पर यात्री स्टाल से पानी और खाने-पीने का सामान ले सकेंगे. इस दौरान प्लेटफार्म पर जहां जीआरपी और आरपीएफ स्टाफ तैनात होगा, वहीं स्टेशन के प्रवेश और निकास दोनो गेट पर हेल्थ टीम थर्मल स्क्रीनिंग करेगी. ट्रेन में चढ़ने के लिए स्टेशन पर सोशल डिस्टेसिंग की मार्किंग कर दी गई है.

दो जून से वाराणसी कैंट रेलवे स्टेशन से तीन ट्रेने प्रतिदिन चलेंगी. जिसमे सुबह करीब साढ़े 11 बजे महानगरी एक्सप्रेस रवाना होगी. इसके बाद साबरमती और महामना एक्सप्रेस भी रवाना होगी. वहीं तीन जून से कामायनी एक्सप्रेस नियमित रूप से मुसाफिरों को मिलेगी. बात अगर वाराणसी के मंडुवाडीह रेलवे स्टेशन की करें तो यहां आज से नई दिल्ली को जाने वाली शिवगंगा सुपरफास्ट एक्सप्रेस नियमित रूप से शाम सात बजकर 55 मिनट पर चलेगी. इस ट्रेन के चार्ट से आप अंदाजा लगा सकते हैं कि पहले दिन ही ट्रेन के स्लीपर से लेकर एसी कोच तक में वेटिंग है. यानी एक बार फिर दिल्ली जाने वालों की वापिसी शुरू हो गई है. स्टेशन पर सभी प्रकार के स्टाल खोल दिए गए हैं. वहीं पहली बार टीटीई भी कोट और टाई में दिखाई देंगे. मास्क और ग्लब्स अनिवार्य होगा, तो नए अंदाज में पुरानी ट्रेनें एक बार फिर पटरियों पर दौड़ने लगी हैं.

आधे घंटे पहले पहुंचे बस अड्डे, गेट पर ही होगी थर्मल स्क्रीनिंग



उत्तर प्रदेश परिवहन निगम की ओर से सोमवार को वाराणसी में भी बसों का संचालन शुरू हो गया. यात्रा के लिए कुछ खास ताकीद जारी करते हुए बसों में जितनी सीट, उतने ही मुसाफिर का फार्मूला लागू किया गया है. लॉकडाउन शुरू होने के साथ ही दो महीने पहले बसों के पहिए भी थम गए थे. लॉकडाउन पांच से एक हफ्ते पहले बसों के संचालन की तैयारी शुरू हो गई थीं, जिसके बाद सोमवार से बसें चलने लगीं. जो नियम बनाए गए हैं, उसके मुताबिक मुसाफिरों को आधे घंटे पहले बस अड्डे पर पहुंचना पड़ेगा. कोई खड़े होकर यात्रा नहीं करेगा. बस और उसके यात्रियों को सैनिटाइज करने के साथ ही बस में चढ़ने से पहले थर्मल स्क्रीनिंग की जा रही है. बसें सुबह पांच से रात नौ बजे तक ही चलेंगी. कैंट स्थित रोडवेज स्टेशन पर कुल चार गेट बनाए गए हैं. वहीं यात्रियों की थर्मल स्क्रीनिंग की जा रही हैं. क्षेत्रीय प्रबंधक एसके राय ने बताया कि दो गेट से यात्रियों को प्रवेश दिया जा रहा है. जबकि दो गेट से बसों की प्रवेश और निकासी हो रही है. बस कंडक्टर को करीब पांच सौ मिलीलीटर सेनिटाइजर दिया गया है. चालक और परिचालक को अलग से सौ मिलीलीटर सेनेटाइजर दिया गया. साथ ही थर्मल स्क्रीनिंग के वक्त अगर कोई मुसाफिर संदिग्ध लगता है तो उसे यात्रा से रोकते हुए एंबुलेंस के जरिए अस्पताल भेजा जाएगा. इसके लिए हर वक्त प्रशासन की ओर से 108 एंबुलेंस बस अड्डे पर खड़ी की गई है.



ये भी पढ़ें -

COVID-19: दिल्ली के स्वास्थ्य विभाग का निर्देश, 2 घंटे में शवगृह भेजे जाएं शव

दिल्ली सरकार के पास नहीं सैलरी देने का पैसा, केंद्र से मांगे 5000 करोड़
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading