UP News: इस बार पश्चिम बंगाल में हो सकता है सत्‍ता परिवर्तन, बनारस के ज्‍योतिषाचार्य का दावा

काशी के ज्योतिषाचार्य  पंडित पवन त्रिपाठी इस वक्त बड़े गौर से अध्ययन कर रहे हैं.

काशी के ज्योतिषाचार्य पंडित पवन त्रिपाठी इस वक्त बड़े गौर से अध्ययन कर रहे हैं.

Varanansi news, Astrology Prediction: मौनी अमावस्या के मौके पर ग्रहों की स्थिति का अध्‍ययन करने वाले ज्योतिषाचार्य का दावा है कि आगामी 6 महीनों में प्राकृतिक आपदा के साथ ही सत्ता परिवर्तन का योग भी बन रहा है.

  • Share this:
वाराणसी. मौनी अमावस्या (Mauni Amawasya) के पर्व पर काशी (Kashi) के घाट पर पुरोहित शंखनाद कर रहे हैं. यह शंखनाद ग्रहों के स्थिति के आधार पर होने वाले बदलावों का बिगुल भी है. इस बार मौनी अमावस्या पर 6 ग्रहों के मिलन और यह अध्ययन बताता है कि उनके स्थान परिवर्तन का सबसे ज्यादा और व्यापक असर अगर कहीं होना है तो वह सत्ता में बैठे शासक वर्ग के लोगों से जुड़ा है. गौरतलब है कि बहुत जल्द पांच राज्यों में चुनाव का बिगुल बजने वाला है और सबसे ज्यादा पश्चिम बंगाल के चुनाव (West Bengal Election) पर नजरें टिकी हैं.

काशी के ज्योतिषाचार्य पंडित पवन त्रिपाठी गुरुवार को मौनी अमावस्या के मौके पर बड़े गौर से अध्ययन कर रहे हैं. ग्रहों के अध्ययन के बाद उन्होंने बताया कि यह मौनी अमावस्या पर कुल पांच से ज्यादा ग्रह अपना स्थान परिवर्तित करके एक ही राशि में आ रहे हैं और ऐसी दशा में भारी विपदा आने की प्रबल आशंका रहती है. साथ ही शासक वर्ग के लिए पांच से ज्यादा ग्रह जब एक राशि में आते हैं तो आपसी विद्वेष चरम पर होता है और सत्ता परिवर्तन की जबरदस्त संभावना होती है.

प्राकृतिक आपदा के साथ सत्ता परिवर्तन का योग 

जब ग्रहों के बारे में पंडित पवन त्रिपाठी से पूछा गया तो उन्होंने बताया कि इस बार मकर राशि में सूर्य, बुध, बृहस्पति, शुक्र और शनि समेत 6 ग्रह एक ही राशि में आ रहे हैं. यह स्थिति भयंकर उत्पात का संकेत देती है. ज्योतिष शास्त्र के मुताबिक, एक ही राशि में 6 ग्रहों के स्थान में परिवर्तन एक असामान्‍य खागेालीय घटना है. इस परिस्थिति में एक बड़े भूभाग में प्राकृतिक उत्पात के साथ शासक वर्ग में संघर्ष की संभावना और सत्ता परिवर्तन का योग होता है.
ज्योतिषाचार्य का दावा- बंगाल में होगा परिवर्तन 

ज्योतिषाचार्य से जब आगामी बंगाल चुनाव के बारे में बात की गई तो उन्होंने कहा कि अगले 6 महीने तक यह दशा बनी रहेगी और ऐसे में निश्चित तौर पर वहां पर सत्ता का परिवर्तन होगा. ग्रहों के योग कहते हैं कि जो राजा जिस भूभाग पर राज करता है, उसका नाश होता है. दूसरी ओर, मौनी अमावस्या पर काशी के घाटों पर जबरदस्त आस्था का सैलाब देखने को मिला. जब न्यूज़18 ने इस बात की तस्दीक करनी चाही तो एक अन्य पुरोहित विवेकानंद पांडे ने बताया कि इस दिन 6 ग्रहों का मिलान सीधा-सीधा सत्ता पर असर डालेगा.

यूं तो चुनावी राजनीति का नतीजा वोटों की गिनती के बाद आता है, लेकिन बंगाल के चुनाव को लेकर जिस तरह से तृणमूल कांग्रेस और भाजपा आमने-सामने है, ऐसे में काशी के ज्योतिषाचार्य की यह भविष्यवाणी कहीं न कहीं भाजपा के उत्साह में बढ़ोतरी ही करेगी.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज