लाइव टीवी

वाराणसी के घाट पर छठ पूजा के लिए नाम लिखकर 'कब्जा' करने में जुटी पुलिस

Upendra Dwivedi | News18 Uttar Pradesh
Updated: November 2, 2019, 1:41 PM IST
वाराणसी के घाट पर छठ पूजा के लिए नाम लिखकर 'कब्जा' करने में जुटी पुलिस
वाराणसी में छठ पूजा के लिए घाट पर पुलिस कुछ इस तरह कब्जा करती दिख रही है.

वाराणसी (Varanasi) में शास्त्री घाट (Shastri Ghat) की तस्वीरें सामने आई हैं. यहां जगह-जगह दरोगा, क्राइम ब्रांच आदि लिखकर छोड़ दिया गया है. माना जा रहा है कि ऐसा छठ पूजा (Chhath Puja) करने के लिए जगह कब्जाने के उद्देश्य से किया गया है.

  • Share this:
वाराणसी. उत्तर प्रदेश में पुलिसिया रुतबे के किस्से अक्सर आप सुनते हैं देखते भी रहे होंगे. वाराणसी (Varanasi) में ये रुतबा छठ (Chhath Puja) महापर्व में भी देखने को मिला है. पूजा करने की जगह रिजर्व करने के लिए पुलिस के इन दबंगकर्मियों ने 2 दिन पहले अपना नाम और पुलिस का रुतबा घाट पर छाप डाला. जी हां, वाराणसी में शास्त्री घाट की तस्वीरें सामने आई हैं. यहां जगह-जगह दरोगा, क्राइम ब्रांच आदि लिखकर छोड़ दिया गया है. माना जा रहा है कि ऐसा पूजा करने के लिए जगह कब्जाने के उद्देश्य से किया गया है.

यूपी के डीजीपी लाख कोशिशें कर रही हैं कि पुलिस पब्लिक फ्रेंडली बन जाए लेकिन पुलिस है कि वो मानने को तैयार नहीं है. आज भी वर्दी का रौब कई पुलिसकर्मियों के सिर चढ़कर बोलता है. कभी सड़क पर गाड़ी खड़ी करने तो कभी नो व्हीकिल जोन में फर्राटा भरते पुलिसकर्मी, जहां देखो पुलिसवाले ही पब्लिक फ्रेंडली स्कीम को फेल करते नजर आ जाते हैं.

Varanasi ghat
वाराणसी में कुछ इस तरह घाट पर नाम लिखकर छठ पूजा के लिए जगह पर कब्जा किया जा रहा है.


पूजा में भी झेलनी होगी पुलिसिया धौंस?

लोगों में चर्चा है कि अब क्या पूजा पाठ में भी पुलिसिया धौंस झेलनी होगी? छठ पूजा पर क्राइम ब्रांच का ये रुतबा दिखाने की क्या जरूरत है? वैसे घाट पर अन्य पुलिसकर्मियों ने भी कुछ तरह लिखकर रुतबा दिखाने की कोशिश की है कि यहां पूजा करना सिर्फ उनका पुलिसिया हक है. इनमें दरोगा, सीआईडी, क्राइम ब्रांच शामिल हैं.

varanasi ghat1
नाम लिखकर घाट पर जगह कब्जाने का ये मामला पहली बार सामने आया है.


बेदी छेकने का रिवाज लेकिन नाम लिखने का वाकया पहली बार
Loading...

बता दें इस घाट पर पूजा के लिए बेदी बनाकर छेकने का रिवाज है लेकिन नाम लिखकर जगह पर कब्जा करने का ये पहली बार सामने आया है. घाट समिति सदस्य अनिल सिंह बताते हैं कि ऐसा पहली बार देखने को मिला है. दूसरी ओर जो स्थानीय लोग हैं, उनमें इस बात को लेकर खासा आक्रोश है.

ये भी पढ़ें:

नए 544 इंजीनियरों से बोले सीएम योगी- सिफारिश कभी न करना, सरकार जहां भेजे जाना

आगरा में 5 साल तक धूल उड़ाने पर NHAI को तगड़ा झटका, लगा 6.84 करोड़ का जुर्माना

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए वाराणसी से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: November 2, 2019, 1:37 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...