Home /News /uttar-pradesh /

Varanasi Weather News: बनारस में बेमौसम की बारिश ने बढ़ाई मुश्किलें, फसलों को नुकसान

Varanasi Weather News: बनारस में बेमौसम की बारिश ने बढ़ाई मुश्किलें, फसलों को नुकसान

X

Varanasi Weather Update: वाराणसी और आसपास के इलाकों में पिछले दो दिनों में हुई बेमौसम की बारिश से एक तरफ जहां तापमान में गिरावट का दौर जारी है, वहीं किसानों को भी नुकसान हो रहा है. बारिश के कारण गलन भी कम नहीं हो रही है. वहीं किसानों की फसल को इस बारिश ने गंभीर नुकसान पहुंचाया है. कृषि वैज्ञानिकों ने किसानों को फसलों पर कीटनाशकों के छिड़काव की सलाह दी है, ताकि बेमौसमी बारिश के कारण आलू या अन्य फसलों को झुलसा रोग के नुकसान से बचाया जा सके.

अधिक पढ़ें ...

वाराणसी. उत्तर प्रदेश के वाराणसी और आसपास के इलाके में बीते दो दिनों से बदले मौसम के मिजाज ने आम लोगों के साथ ही किसानों की चिंता भी बढ़ा दी है. बेमौसम बारिश से जहां गलन बरकरार है, तो वहीं दूसरी तरफ बारिश के कारण सरसों, गेहूं, आलू, सब्जियों के अलावा फूलों की खेती करने वाले किसानों की फसल को नुकसान पहुंचा है. हालांकि मौसम विभाग का अनुमान है कि आने वाले एक दो दिनों में आसमान में छाए बादल छट जाएंगे, लेकिन ठंड और गलन लोगों को परेशान करेगी.

मौसम विभाग के वैज्ञानिकों की माने तो पछुआ हवाओं के कारण आने वाले तीन से चार दिनों में पारा और गिरेगा जिससे ठंड गलन बढ़ेगी. बताते चलें कि शुक्रवार की रात से वाराणसी में बूंदाबांदी का जो दौर शुरू हुआ, वह शनिवार और रविवार को भी जारी रहा. सोमवार को भी वाराणसी के आसमान में बादल छाए रहे. इस दौरान हुई बारिश के कारण शहर से लेकर ग्रामीण इलाकों तक तापमान में कमी-बेसी होती रही.

फसलों को नुकसान से बचाएं

जिला उद्यान अधिकारी संदीप कुमार गुप्ता ने किसानों को बेमौसम की बारिश से फसलों को बचाने का सुझाव दिया है. गुप्ता ने बताया कि जनवरी के महीने में बारिश के कारण आलू के अलावा अन्य सब्जियों की फसलों को नुकसान हुआ है. इस बारिश से आलू में झुलसा रोग की आशंका बढ़ गई है. उन्होंने कहा कि किसान अपनी फसल को बचाने के लिए कीटनाशक दवाओं का छिड़काव करें, ताकि झुलसा रोग उनकी मेहनत पर पानी न फेरे. (रिपोर्ट – अभिषेक जायसवाल)

Tags: Varanasi news, Weather news

विज्ञापन
विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर