वाराणसी फ्लाईओवर हादसा: FIR के बाद अब शुरू हुआ दोषारोपण का खेल

वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक आरके भारद्वाज ने कहा कि निर्माण स्थल का निरीक्षण करने के दौरान पता चला कि बिल्डर सुरक्षा मानक नहीं अपना रहे थे.


Updated: May 17, 2018, 8:25 PM IST
वाराणसी फ्लाईओवर हादसा: FIR के बाद अब शुरू हुआ दोषारोपण का खेल
जिला पुलिस ने सेतु निगम के अधिकारियों के खिलाफ एफआईआर दर्ज की है.

Updated: May 17, 2018, 8:25 PM IST
वाराणसी में फ्लाईओवर का एक हिस्सा गिरने की घटना को लेकर स्थानीय प्रशासन और इसके निर्माण का ठेका पाने वाली एजेंसी के बीच दोषारोपण शुरू हो गया है. जिला पुलिस ने आरोप लगाया कि इस निर्माण में उत्तर प्रदेश सेतु निगम ने सुरक्षा मानकों का ख्याल नहीं रखा.  जिला पुलिस ने ही सेतु निगम के अधिकारियों के खिलाफ एफआईआर दर्ज की है.

वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक आरके भारद्वाज ने कहा कि निर्माण स्थल का निरीक्षण करने के दौरान पता चला कि बिल्डर सुरक्षा मानक नहीं अपना रहे थे. उन्होंने ना तो सही से बैरियर लगाए थे और ना ही सर्विस लेन बनाई थी. निगम के अधिकारियों के खिलाफ फरवरी में भी एक प्राथमिकी दर्ज हुई थी.

निगम के प्रबंध निदेशक राजन मित्तल ने हालांकि पुलिस के आरोपों से इनकार करते हुए कहा कि उनके पास वो पांच पत्र हैं जो पुलिस अधीक्षक (यातायात) को नवंबर 2017 से मार्च 2018 के बीच लिखे गए, जिनमें यातायात नियमन करने तथा क्षेत्र से अतिक्रमण हटवाने के लिए कहा गया था.

मित्तल ने मीडिया से कहा, 'स्थानीय प्रशासन के साथ हुई बैठकों में हमने लगातार यातायात को लेकर अपनी चिन्ता व्यक्त की है और इसे बैठक की कार्यवाही के मिनट्स से देखा जा सकता हैं' उन्होंने आगे कहा कि पहली बात तो यह कि उस क्षेत्र में यातायात की अनुमति ही नहीं दी जानी चाहिए थी. जिले के सभी अधिकारियों को पता था कि वहां यातायात कैसा है और जाम की समस्या कैसी है.

ये भी पढे़ं

वाराणसी हादसा: सेतु निगम के एमडी राजन मित्तल पर गिरी गाज, हटाए गए
IBN Khabar, IBN7 और ETV News अब है News18 Hindi. सबसे सटीक और सबसे तेज़ Hindi News अपडेट्स. Uttar Pradesh News in Hindi यहां देखें.
पूरी ख़बर पढ़ें
अगली ख़बर