वाराणसी: करोड़पति हुए काशी विश्वनाथ, 25 प्रतिशत बढ़ा इंक्रीमेंट

News18 Uttar Pradesh
Updated: August 19, 2019, 3:02 PM IST
वाराणसी: करोड़पति हुए काशी विश्वनाथ, 25 प्रतिशत बढ़ा इंक्रीमेंट
बाबा काशी विश्वनाथ

इस बार भी सावन में बाबा के भक्तों ने दर्शन के साथ-साथ अपना दिल भी खोला और बाबा को एक माह में ही करोड़पति बना दिया.

  • Share this:
देश में भले ही मंदी का माहौल बना हुआ हो, लेकिन बाबा का दरबार इस मंदी में भी करोड़ो कमा रहा है. हम बात कर रहे हैं काशी विश्वनाथ मंदिर की जो इस बार सावन में करोड़पति बन गया. यही नही इंक्रीमेंट भी इतना बढ़ा की पिछले सारे रिकार्ड टूट गए.

वैसे तो पूरे साल काशी विश्वानाथ मंदिर जहां हर दिन भक्तों का सैलाब उमड़ा रहता है. लेकिन साल का एक ऐसा महीना भी आता है, जिसमें प्रत्येक दिन लाख से ऊपर भक्त बाबा के दर्शन करते हैं और अपनी श्रद्धा से उन्हें चढ़ावा भी चढ़ाते हैं. इस बार भी सावन में बाबा के भक्तों ने दर्शन के साथ-साथ अपना दिल भी खोला और बाबा को एक माह में ही करोड़पति बना दिया. इस बार सावन में विश्वनाथ मंदिर कोष में पूरे 2 करोड़ 10 लाख रूपये चढ़ावे के रूप में आए.

चढ़ावे में 25 फ़ीसदी का इजाफा

कार्यपालक अधिकारी विश्वनाथ मंदिर विशाल सिंह ने बताया कि ये रकम बाबा को कैश, के साथ-साथ सोना, चांदी और ऑनलाइन दान के माध्यम से प्राप्त हुआ है. इस पूरे चढ़ावे का जोड़ पूरे 2 करोड़ 10 लाख रुपये है. जो प्रत्येक वर्ष से 25 प्रतिशत ज्यादा हुआ. यानी विश्वनाथ मंदिर कमाई में पूरे 25 प्रतिशत का इंक्रीमेंट भी हुआ.

kashi vishwanath temple earnings
काशी विश्वनाथ के दर्शन को उमड़ा भक्तों का सैलाब


विश्वनाथ मंदिर में हुए इस दान से मंदिर प्रशासन खासा उत्साहित है. इस कोष से मंदिर में आने वाले भक्तों के लिए और भी अच्छी सुविधाएं देने की तैयारी चल रही है, ताकि यहां आने वाले श्रद्धालुओं को बाबा के दर्शन और आसानी से प्राप्त हो सके.

(रिपोर्ट: रवि पाण्डेय)
Loading...

ये भी पढ़ें:

लम्भुआ कांड: छात्रा से छेड़छाड़ व हत्या मामले में पांच पुलिसकर्मी सस्पेंड

एक ही दिन में 6 हत्याओं से दहला प्रयागराज, कानून-व्यवस्था बेपटरी

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए वाराणसी से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: August 19, 2019, 3:02 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...