लाइव टीवी

दिलचस्प हुआ काशी का रण, PM मोदी को चुनौती दे रहे 'बहादुर' व 'बाहुबली'

Amit Tiwari | News18 Uttar Pradesh
Updated: April 30, 2019, 11:32 AM IST
दिलचस्प हुआ काशी का रण, PM मोदी को चुनौती दे रहे 'बहादुर' व 'बाहुबली'
फाइल फोटो

समाजवादी पार्टी ने ऐन वक्त पर बर्खास्त बीएसएफ जवान तेज बहादुर यादव को टिकट देकर 'असली' और 'नकली' चौकीदार की लड़ाई छेड़ दी है.

  • Share this:
उत्तर प्रदेश की सबसे हाई-प्रोफाइल सीट वाराणसी पर इस बार मतदान आखिरी चरण में 19 मई को होने हैं, लेकिन सियासी पारा अभी से आसमान पर है. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के खिलाफ इस बार बीएसएफ से बर्खास्त जवान तेज बहादुर यादव और बाहुबली पूर्व सांसद अतीक अहमद ताल ठोक रहे हैं. दोनों के मैदान में उतरने से काशी का रण दिलचस्प हो गया है.

समाजवादी पार्टी ने ऐन वक्त पर बर्खास्त बीएसएफ जवान तेज बहादुर यादव को टिकट देकर 'असली' और 'नकली' चौकीदार की लड़ाई छेड़ दी है तो दूसरी तरफ बाहुबली अतीक अहमद के निर्दलीय मैदान में उतरने से मुस्लिम वोटों के बंटवारे की भी आशंका जताई जा रही है. सपा का प्रत्याशी बदलने के साथ ही स्थानीय स्तर पर चुनावी लड़ाई देश के चौकीदार प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और बीएसएफ से बर्खास्त सीमा प्रहरी तेज बहादुर यादव के बीच होने की चर्चा भी शुरू हो गई है.

उधर बाहुबली नेता अतीक अहमद के चुनाव मैदान में उतरने से विपक्षी पार्टियों का समीकरण भी बिगड़ता दिख रहा है. जानकारों की मानें तो अतीक के चलते मुस्लिम मतों का बिखराव हो सकता है. अगर ऐसा हुआ तो इसका फायदा बीजेपी और नुकसान विपक्षी दलों को उठाना पड़ेगा. दरअसल 2014 में आम आदमी पार्टी के अरविन्द केजरीवाल को 209238 मत मिले थे, इनमें मुस्लिम मतदाता भी शामिल हैं. सपा-बसपा गठबंधन और कांग्रेस इसी वोट को अपने पाले में करने की जुगत में है. लेकिन अतीक के मैदान में उतरने से इन वोटों में सेंधमारी का अंदेशा जताया जा रहा है. यह स्थिति बीजेपी के लिए अनुकूल होगी, जबकि गठबंधन और कांग्रेस को नई रणनीति बनानी होगी.

वरिष्ठ पत्रकार और राजनैतिक विश्लेषक रतनमणि लाल कहते हैं कि वैसे तो पीएम मोदी को वाराणसी से हराना मुश्किल है, लेकिन विपक्ष की कोशिश यही है कि वह चुनौती देता हुआ दिखे. यह संदेश न जाए कि उनके पास कोई प्रत्याशी नहीं है और मोदी को वॉक ओवर मिल गया. अच्छा होता अगर कांग्रेस गठबंधन के प्रत्याशी को समर्थन देती. लेकिन ऐसा नहीं हुआ लिहाजा सपा बीजेपी के राष्ट्रवाद को चुनौती देने के लिए एक जवान को मैदान में उतारा है. ताकि यह संदेश जाए कि लड़ाई असली चौकीदार बनाम नकली चौकीदार है.

ये भी पढ़ें:

अकबरपुर से कांग्रेस प्रत्याशी ने भंग की वोटिंग की गोपनीयता, EVM के साथ फोटो वायरल

अमेठी में आज आमने-सामने होंगे CM योगी और प्रियंका गांधी
Loading...

सोनू निगम पर भी चढ़ा चुनावी रंग, 'नमो अगेन' सॉन्ग के साथ की मोदी की तारीफ

एक क्लिक और खबरें खुद चलकर आएंगी आपके पास, सब्सक्राइब करें न्यूज़18 हिंदी WhatsApp अपडेट्स

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए वाराणसी से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: April 30, 2019, 11:17 AM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...