राम मंदिर भूमि पूजन से खुश वाराणसी की मुस्लिम युवती ने बनवाया श्रीराम नाम का परमानेंट टैटू
Ayodhya News in Hindi

राम मंदिर भूमि पूजन से खुश वाराणसी की मुस्लिम युवती ने बनवाया श्रीराम नाम का परमानेंट टैटू
वाराणसी की मुस्लिम युवती ने अपने हाथ पर श्रीराम का परमानेंट टैटू बनवाया है.

वाराणासी (Varanasi) के सिगरा स्थित एक टैटू जोन शॉप पर मुस्लिम युवती पहुंची, यहां उसने अपने हाथ पर श्रीराम का परमानेंट टैटू बनवाया. युवती का नाम इक्रा खान है

  • Share this:
वाराणसी. राम के धुन में रमा है जग सारा. देशवासियों का सैकड़ों वर्ष पुराना राम मंदिर (Ram Mandir) का सपना 5 अगस्त को भूमि पूजन के साथ साकार होने जा रहा है. इस उत्सव में पूरा देश शामिल है. धर्म नगरी वाराणसी (Varanasi) में भी राम भक्त अलग-अलग तरीके से इस दिन को यादगार बनाने में जुटे हैं. इस दौरान एक राम भक्त मुस्लिम युवती (Muslim lady) ने गंगा जमुनी तहजीब का उदाहरण पेश किया है. दरअसल इस युवती ने एकता का मिसाल देने के लिए अपने हाथ पर श्रीराम के नाम का स्थायी यानी परमानेंट टैटू (Permanent Tattoo) बनवाया है.

इक्रा का सपना था अयोध्या में राम मंदिर बने

वाराणसी में राम भक्ति अपने चरम पर है. इसका अंदाजा इसी से लगाया जा सकता है कि सिगरा स्थित एक टैटू जोन शॉप पर एक मुस्लिम युवती पहुंची, यहां उसने अपने हाथ पर श्रीराम का टैटू बनवाया. युवती का नाम इक्रा खान है, वह पीएम मोदी की प्रशसंक है. इक्रा ने कहा कि उसका सपना था कि राम मंदिर का निर्माण हो, इसका उन्हें बेशब्री से इंतजार था. ये स्थाई टैटू उन्होंने इसलिए बनवाया ताकि लोगों में संदेश जाए और हिन्दू मुस्लिम एकता बनी रहे.



muslim girl ram tattoo
वाराणसी की मुस्लिम युवती ने अपने हाथ पर श्रीराम का परमानेंट टैटू बनवाया है.

दुकानदार ने भी पेश किया फ्री ऑफर

मुस्लिम महिला का ये जोश देख के दुकानदार ने भी राम भक्ति में अपना योगदान दिया और राम नाम के टैटू बनवाने वालों के लिए टैटू बिल्कुल फ्री कर दिया. दुकानदार अशोक गोगिया का कहना है कि सनातन धर्म में विश्वास रखने वालो के लिए ये सबसे बड़ा त्योहार है. ऐसे में मैंने भी अपनी भक्ति समर्पित की है. राम नाम के टैटू करवाने का ये ऑफर आफर 5 अगस्त तक जारी रहेगा. जो भी राम भक्त आएगा, उसे राम नाम का टैटू फ्री बनवाया जाएगा. फिर चाहे वो अस्थाई टैटू हो या स्थाई.

राम भक्ति की ये तस्वीर वाकई अनोखी है. राम मंदिर का निर्माण ही एक लंबे संघर्ष के बाद होने जा रहा है. ऐसे में इस मुस्लिम युवती का ये योगदान आपसी भाईचारे के लिए बड़ा संदेश है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading