Home /News /uttar-pradesh /

BHU वैज्ञानिक का दावा- 2-3 हफ्तों में थमेगी कोरोना की रफ्तार, वाराणसी के रिकवरी रेट में आया सुधार

BHU वैज्ञानिक का दावा- 2-3 हफ्तों में थमेगी कोरोना की रफ्तार, वाराणसी के रिकवरी रेट में आया सुधार

प्रोफेसर ज्ञानेश्वर चौबे ने किया कोरोना के सैचुरेशन का दावा

प्रोफेसर ज्ञानेश्वर चौबे ने किया कोरोना के सैचुरेशन का दावा

Varanasi Corona Infection: प्रोफेसर ज्ञानेश्वर चौबे ने बताया कि बनारस में संक्रमण की स्थिति देखी जाए तो दो तीन चीजें साफ हैं, जो रिकवरी रेट 15 अप्रैल को 20% के आसपास था, वह पिछले चार-पांच दिनों में 80% तक चला गया है.

वाराणसी. कोरोना महामारी (Corona Pandemic) की दूसरी लहर का पीक और सैचुरेशन पीरियड कब आएगा, इसे लेकर देश के तमाम वैज्ञानिक अनुमान लगाने में जुटे हैं. बनारस हिंदू यूनिवर्सिटी (BHU) के जूलॉजी विभाग के प्रोफेसर का दावा है कि दो से तीन हफ़्तों में कोरोना की तेज रफ़्तार पर ब्रेक लगेगा और संक्रमण की चेन टूटेगी. उन्होंने कहा है कि वाराणसी में रिकवरी रेट में ख़ासा सुधार देखने को मिल रहा है, .

प्रोफेसर ज्ञानेश्वर चौबे ने बताया कि जो रिकवरी रेट 15 अप्रैल को 20% के आसपास था, वह पिछले चार-पांच दिनों में 80% तक चला गया है. इस तरह से रिकवरी रेट में 4 गुने से ज्यादा की बढ़ोतरी हुई है. उन्होंने आगे कहा कि अभी तक जितने वैक्सीनेशन हुए हैं, या इंफेक्शन हुए हैं और जो लोग एंटीबॉडी कैरी कर रहे हैं, सभी को काउंट करें तो इन सभी को मिलाकर वाराणसी में लगभग 5 लाख से ज्यादा आबादी वायरस के अगेंस्ट इम्यूनिटी ले चुकी होगी. यानी वायरस की संक्रमण दर घट जाएगी और वायरस की चेन भी टूट जाएगी.



दो से तीन दिन में सैचुरेशन पीरियड
उन्होंने उम्मीद जताईहै कि अगले 2 से 3 सप्ताह में इंफेक्शन का नंबर सैचुरेशन लेवल तक पहुंच जाएगा और फिर केस कम आएंगे। क्योंकि वायरस को कैरियर नहीं मिलेगा. हालांकि उन्होंने सावधान किया कि किसी भी तरह की ढिलाई खतरनाक हो सकती है. उन्होंने लोगों को टीका लगवाने और प्रोटोकॉल का अनुपालन करने की सलाह दी, ताकि संक्रमण की चेन को तोड़ा जा सके.

Tags: Banaras Hindu University, Cases of corona infection, Varanasi news

विज्ञापन
विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर