Varanasi News: BHU में ओपीडी और ओटी बंद, मरीजों को मिलेगी सिर्फ टेलीमेडिसिन की सुविधा

BHU स्थिर सर सुन्दर लाल अस्पताल में ओपीडी सेवा बंद

BHU स्थिर सर सुन्दर लाल अस्पताल में ओपीडी सेवा बंद

BHU Sir Sundar Lal Hospital: बढ़ते कोरोना संक्रमण के कारण बनारस हिंदू विश्वविद्यालय के डॉक्टर भी लगातार संक्रमित हो रहे हैं. इस वजह से चिकित्सा अधीक्षक को यह फैसला लेना पड़ा है.

  • Share this:
वाराणसी. धर्मनगरी वाराणसी में कोरोना के बढ़ते संक्रमण (Corona Infection) को देखते हुए बनारस हिंदू विश्वविद्यालय (BHU) स्थित सर सुंदरलाल हॉस्पिटल (Sir Sundar Lal Hospital) के ट्रॉमा सेंटर में सामान्य ओपीडी (General OPD) बंद कर दी गई है. अब मरीजों को केवल टेलीमेडिसिन की सुविधा ही मिल पाएगी. इलेक्टिव ओटी यानी सामान्य ऑपरेशन थिएटर को भी अब बंद कर दिया गया है. बढ़ते कोरोना संक्रमण के कारण बनारस हिंदू विश्वविद्यालय के डॉक्टर भी लगातार संक्रमित हो रहे हैं, जिसकी वजह से चिकित्सा अधीक्षक को यह फैसला लेना पड़ा. इसका सीधा असर वाराणसी समेत पूर्वांचल और बिहार से हर रोज यहां आने वाले करीब 5000 मरीज और उनके तीमारदारों पर पड़ेगा.

अब जो आदेश जारी किया गया है, उसके मुताबिक मरीजों को परामर्श के लिए टेली ओपीडी ही उपलब्ध रहेगी. इसके लिए मरीजों को अपने मोबाइल नंबर के जरिए बीएचयू की वेबसाइट पर जाकर पहले रजिस्ट्रेशन करना होगा. रजिस्ट्रेशन के बाद मरीज का पूरा ब्यौरा संबंधित विभाग को जाएगा जिसके बाद विभाग के डॉक्टर मरीज द्वारा दिए गए फोन नंबर पर संपर्क कर उन्हें स्वास्थ्य परामर्श देंगे.

रविवार और अवकाश के दिन टेली ओपीडी की सुविधा नहीं

बता दें कि सर्जिकल अंकोलॉजी, रेडियोथेरेपी और रेडिएशन मेडिसिन में ही फिजिकल ओपीडी चलेगी. इसके लिए भी पहले ऑनलाइन पंजीकरण कराना होगा. यही नहीं टेली ओपीडी में भी जनरल स्पेशलिटी विभाग में 50 सुपर स्पेशलिटी विभागों में 30 मरीजों का ही रजिस्ट्रेशन होगा. इसमें फॉलोअप वाली मरीज भी शामिल होंगे. रविवार और अवकाश के दिन टेली ओपीडी की सुविधा भी उपलब्ध नहीं होगी और यदि किसी मरीज को बुलाने की आवश्यकता है तो उसके लिए डॉक्टर द्वारा मरीज को पहले से ही सूचित किया जाएगा. किसी अन्य विभाग के लिए अगर कोई मरीज रेफर किया गया है तो उस विभाग के लिए फिर से मरीज को ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन कराना होगा.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज