Varanasi: कोरोना पर नियंत्रण के लिए शुरू हुआ पीएम कोविड कंट्रोल रूम, इन नंबरों पर 24 घंटे मिलेगी हर मदद

पीएम मोदी के वाराणसी ऑफिस में शुरू हुआ कोरोना कण्ट्रोल रूम (फाइल फोटो)

पीएम मोदी के वाराणसी ऑफिस में शुरू हुआ कोरोना कण्ट्रोल रूम (फाइल फोटो)

Varanasi 24 Hours COVID-19 Control Room: पीएमओ में बने कंट्रोल रूम फॉर क़ोविड की सहायता से जरूरतमंद को बेड की उपलब्धता, ऑक्सीजन, वेंटिलेटर, दवाई, डॉक्टर से परामर्श आदि की जानकारी दी जाएगी.

  • Share this:
वाराणसी. वाराणसी (Varanasi) के सांसद और देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) के जवाहर नगर एक्सटेंशन स्थित संसदीय जनसंपर्क कार्यालय में 19 अप्रैल से कंट्रोल रूम फार कोविड (Control Room For Covid) शुरू किया गया है. जिसके ज़रिए संक्रमण के इस काल में लोगों को जांच से लेकर इलाज की ने केवल जानकारी मिलेगी बल्कि यहां मौजूद डॉक्टर से टेलीमेडिशिन की सुविधा प्रदान की जाएगी. इसके लिए दो हेल्पलाइन नंबर भी जारी किए गए है. लैंडलाइन नंबर 0542-2314000 और मोबाइल नंबर 9415914000 है. कोरोना संक्रमित मरीज या उनके परिजन 24 घंटे में कभी भी इन नंबरों पर फोन करके आवश्यकतानुसार अस्पताल में भर्ती, आक्सीजन, वेंटिलेटर, दवाई आदि के साथ ही कंट्रोल रूम में मौजूद डॉक्टरों से परामर्श भी ले सकेंगे. सभी जानकारी, सलाह व सहायता टेलीफोन के माध्यम से ही दी जाएगी.

पीएमओ में बने कंट्रोल रूम फॉर क़ोविड की सहायता से जरूरतमंद को बेड की उपलब्धता, ऑक्सीजन, वेंटिलेटर, दवाई, डॉक्टर से परामर्श आदि की जानकारी दी जाएगी. प्रदेश भाजपा के सह प्रभारी सुनील ओझा ने कहा कि बीजेपी केवल एक सियासी पार्टी नहीं है. उसके अपने सामाजिक दायित्व भी हैं. पिछले साल भी कोरोना काल में बीजेपी संगठन की ओर से अपने सामाजिक दायित्व का निर्वहन करते हुए हर जरूरतमंद को भोजन और राशन पहुंचाया गया. इस बार भी यह सामाजिक दायित्व बीजेपी पूरा करेगी. लेकिन इसके साथ ही बढ़ते संक्रमण में इस बार एक नई जिम्मेदारी कंट्रोल रूम के माध्यम से बीजेपी निभाएगी.

चार शिफ्टों में होगा काम

प्रधानमंत्री की प्रेरणा और मार्गदर्शन में बीजेपी कंट्रोल रूम के ज़रिए 24 घंटे ज़रूरतमंदों के लिए उपलब्ध रहेगी. प्रधानमंत्री के संसदीय कार्यालय का चयन इसलिए किया गया है कि क्योंकि खुद प्रधानमंत्री ने अपने कार्यकर्ताओं को यह नसीहत दी है कि इस वक्त सबसे बड़ा दायित्व समाज की सेवा करने का है. कंट्रोल रूम पर अनुभवी डॉक्टरों की टीम मौजूद रहेगी. इसमें डाक्टर अनिल ओहरी, डॉ मनोज श्रीवास्तव, डॉ एसपी गुप्ता, डॉ अशोक राय शामिल है. यह पूरा कंट्रोल रूम 4 शिफ्ट में काम करेगा. पहली शिफ्ट 8:00 से 12:00 बजे तक, दूसरी शिफ्ट 12:00 से 4:00, तीसरी शिफ्ट 4:00 से 8:00 और चौथी रात 8:00 से सुबह 8:00 तक रहेगी.
प्रधानमंत्री ने प्रभावी नियंत्रण के लिए दिया 'ट्रिपल टी' का फॉर्मूला

इससे पहले रविवार को प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने वाराणसी में कोविड-19 के हालात पर वीडियो कांफ्रेंसिंग के माध्यम से समीक्षा की. बैठक के दौरान प्रधानमंत्री द्वारा कोरोना से बचाव तथा कोरोना संक्रमित मरीजों के समुचित इलाज के लिए अफ़सरों को ट्रिपल टी यानी Test, Track और Treat’ का मंत्र दिया. प्रधानमंत्री ने कहा कि पहली लहर की तरह ही वायरस से जीतने के लिए यही रणनीति अपनानी होगी. उन्होंने संक्रमित व्यक्तियों की कांटेक्ट ट्रेसिंग और टेस्ट रिपोर्ट्स को जल्द से जल्द उपलब्ध कराने पर भी बल दिया. यही नहीं होम आइसोलेशन में रह रहे मरीजों और उनके परिवार के प्रति भी संवेदनशील रहने का निर्देश दिया. बैठक में पीएम ने टेस्टिंग, बेड, दवाइयां, वैक्सिीन, मैन पावर आदि का फ़ीडबैक लिया. बैठक में मौजूद वाराणसी के क़ोविड नियंत्रण के प्रभारी और एमएलसी एके शर्मा की मौजूदगी में अफ़सरों ने प्रधानमंत्री को कॉन्टैक्ट ट्रेसिंग के लिए स्थापित कण्ट्रोल रूम, होम आइसोलेशन के लिए बनाये गए कमाण्ड एण्ड कन्ट्रोल सेंटर, डेडीकेटेड फोन लाईन एम्बुलेंस, कण्ट्रोल रूम से टेलीमेडिसीन की व्यवस्था, शहरी क्षेत्र में अतिरिक्त रैपिड रिस्पान्स टीम की तैनाती आदि की जानकारी दी. प्रधानमंत्री को बताया गया कि कोविड से बचाव के लिए अभी तक 198383 व्यक्तियों को प्रथम और 35014 व्यक्तियों को वैक्सीनेशन की दोनों डोज लग चुकी है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज