Assembly Banner 2021

अब वाराणासी में नाबालिग गैंगरेप पीड़िता ने की जान देने की कोशिश, परिजन के साथ SSP ऑफिस के बाहर खाया जहर

पीड़िता और उसके परिजन को अब अस्पताल में भर्ती करवाया गया है. (प्रतीकात्मक फोटो)

पीड़िता और उसके परिजन को अब अस्पताल में भर्ती करवाया गया है. (प्रतीकात्मक फोटो)

परिवार पुलिस (Police) की कार्रवाई से नाखुश था और इसी के चलते यह कदम उठाया गया. वहीं पुलिस का कहना है कि प्रथम दृष्टया यह लगता है कि परिवार ने यह कदम किसी के बहकावे में आकर उठाया है.

  • Share this:
वाराणसी. उत्तर प्रदेश में महिलाओं के प्रति हो रहे अपराधों को लेकर कमी होती नहीं दिख रही है. वहीं न्याय की मांग को लेकर भी अब पीड़ितों ने गंभीर कदम उठाने शुरू कर दिए हैं. ऐसा ही एक मामला वाराणसी में भी सामने आया. यहां पर एक नाबालिग गैंगरेप पीड़िता ने अपने पूरे परिवार के साथ एसएसपी ऑफिस के बाहर जहर खा कर आत्महत्या का प्रयास किया. अब पीड़िता और उसके माता-पिता को अस्पताल में भर्ती करवाया गया है. जानकारी के अनुसार पीड़िता ने करीब एक महीने पहले गैंगरेप और अपहरण का मामला दर्ज करवाया था. मामले में पुलिस ने दो आरोपियों को गिरफ्तार भी किया था.

पुलिस कार्रवाई से नाखुश था परिवार
बताया जा रहा है कि परिवार पुलिस की कार्रवाई से नाखुश था और इसी के चलते यह कदम उठाया गया. वहीं पुलिस का कहना है कि प्रथम दृष्टया यह लगता है कि परिवार ने यह कदम किसी के बहकावे में आकर उठाया है. एसएसपी वाराणसी प्रभाकर चौधरी ने कहा कि मामले में पुलिस ने कार्रवाई की है. दो आरोपी गिरफ्तार भी किए गए हैं जबकि एक अन्य के खिलाफ एनबीडब्लू के लिए आवेदन किया गया है. इतना ही नहीं पीड़िता का 164 के तहत कलमबंद बयान भी दर्ज करवाया गया है. फिर विवेचना में धांधली का आरोप कैसे लग सकता है. मामले को सनसनीखेज बनाने के लिए किसी के बहकावे में परिवार ने जहर खाया है. इसकी भी तफ्तीश की जाएगी. फिलहाल सभी को अच्छा इलाज दिलाने की कोशिश की जा रही है.

फिल्मों में काम का झांसा देकर ले गया मुंबई
जानकारी के अनुसार पीड़ित किशोरी कुछ दिनों पहले अचानक घर से गायब हो गई थी. जिसके बाद परिजन ने अपहरण का मामला दर्ज करवाया था. इस बीच अचानक पीड़िता लौट आई और पुलिस में शिकायत दर्ज करवाई कि कैंट रेलवे स्टेशन पर तैनात टीटीई जमील आलम उसे मुंबई फिल्मों में काम करवाने का झांसा देकर भगा ले गया. पीड़िता ने बताया कि वहां पर उसे एक होटल में पांच अन्य लड़कियों के साथ रखा गया. जहां पर उसे बेहोशी की दवा देकर रेप किया गया. बाद में उसे बेच भी दिया गया.



किसी तरह से भागी
पीड़िता ने बताया कि एक दिन मौका मिलते ही वह वहां से भाग निकली. किजसके बाद वह इलाहाबाद पहुंची और पुलिस को आपबीती सुनाई. जिसके बाद इलाहबाद रेलवे पुलिस ने 12 नवंबर को कैंट थाना पुलिस को वारदात की जानकारी दी. 13 नवंबर को कैंट पुलिस उसे वाराणसी लेकर पहुंची.

(इनपुट: रवि पांडे)

ये भी पढ़ें: CAA Protest: यूपी में अब तक 164 FIR, 879 गिरफ्तार, हिरासत में 5312 लोग

CAA Protest: सोशल मीडिया की 15,344 आपत्तिजनक पोस्ट पर 76 FIR, 108 गिरफ्तार
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज