होम /न्यूज /उत्तर प्रदेश /लड़का पैदा हुआ या लड़की, इस बात पर BHU में बरपा हंगामा, जानें क्यों हुई DNA टेस्ट की मांग

लड़का पैदा हुआ या लड़की, इस बात पर BHU में बरपा हंगामा, जानें क्यों हुई DNA टेस्ट की मांग

BHU के सुंदरलाल अस्पताल में नवजात शिशु को लेकर परिजनों ने किया हंगामा.

BHU के सुंदरलाल अस्पताल में नवजात शिशु को लेकर परिजनों ने किया हंगामा.

Varanasi News: पूरे मामले को लेकर अस्पताल प्रबंधन के मुताबिक लड़की पैदा होने की बात सामने आई. भूलवश लड़का लिख दिया गया ...अधिक पढ़ें

  • News18Hindi
  • Last Updated :

हाइलाइट्स

सर सुंदरलाल अस्पताल में नवजात शिशु को लेकर हंगामा
परिजनों ने की DNA जांच की मांग

वाराणसी. बनारस हिंदू विश्वविद्यालय के “सर सुंदरलाल अस्पताल” में बुधवार रात, बच्चे को लेकर हंगामा हो गया. यह बवाल तब हुआ जब कागजी तौर पर मां-बाप को बताया गया कि उनके घर बेटा पैदा हुआ है. लेकिन जब बच्चे की सुपुर्दगी हुई तो लड़की थी. इसी बात को लेकर रात में काफी देर तक बवाल हुआ. बीएचयू के स्वास्थ्य अधिकारियों के समझाने पर परिजन शांत तो हो गए, लेकिन उन्होंने डीएनए टेस्ट कराने की मांग कर डाली.

मामला सर सुंदर अस्पताल के एमसीएच विंग का है. यहां नरिया निवासी मनशेर जुल्फिकार अली की पत्नी अर्शी की डिलीवरी हुई थी. परिजनों की माने तो उन्हें बताया गया कि उनके घर बेटे का जन्म हुआ है. यही नहीं डॉक्टर ने बताया कि लड़का हुआ है और नर्स ने रजिस्टर पर भी एम यानी लड़का लिखा. हंगामा तब शुरू हुआ जब परिजनों को बच्चा सौंपा गया तो वह लड़की निकली. बवाल होने पर संस्थान के डिप्टी चीफ प्रॉक्टर प्रोफेसर एमए अंसारी पहुंचे और उन्होंने मामले की जांच की. सीसीटीवी फुटेज भी चेक किए गए साथ ही दस्तावेज खंगालने के साथ दूसरी छानबीन भी हुई.

परिजनों ने डीएनए टेस्ट की मांग की
पूरे मामले को लेकर अस्पताल प्रबंधन के मुताबिक लड़की पैदा होने की बात सामने आई. भूलवश लड़का लिख दिया गया था. अस्पताल प्रबंधन ने सीसीटीवी फुटेज भी चेक किए गए. साथ ही दस्तावेज खंगालने के साथ दूसरी छानबीन भी हुई. संस्थान के डिप्टी चीफ प्राक्टर ने जांच कराने का आश्वासन दिया. जिस पर परिजन शांत तो हो गए. लेकिन परिजनों ने डीएनए जांच कराने की मांग की है.

आपके शहर से (वाराणसी)

वाराणसी
वाराणसी

BHU में नहीं हो सकता मेडिको लीगल डीएनए
पूरे मामले को लेकर परिजन डीएनए टेस्ट की मांग कर रहे हैं. लेकिन अब मुश्किल यह है कि यूं तो डीएनए टेस्ट बीएचयू में भी होता है, लेकिन मेडिको लीगल के लिए सुविधा बीएचयू में नहीं है. मेडिको लीगल डीएनए टेस्ट हैदराबाद में ही हो पाएगा. ऐसे में बच्चे की जांच के लिए सैंपल हैदराबाद भेजना होगा. देखना यह है कि इस मामले में आगे क्या होता है. लेकिन इसे गलतफहमी कहें या लापरवाही, बेवजह अस्पताल में हंगामा बरपा रहा.

Tags: BHU, Uttarpradesh news, Varanasi news

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें