Home /News /uttar-pradesh /

gyanvapi case advocate of temple side received threats from pakistan sohanlal said even sacrificing life for hindutva ssp

ज्ञानवापी केस: मंदिर पक्ष के पैरोकार को पाकिस्तान से मिली धमकी, सोहनलाल ने कहा- हिंदुत्व के लिए जान भी न्यौछावर

ज्ञानवापी मंदिर पक्ष के पैरोकार सोहन आर्य को पाकिस्तान से धमकी भरी कॉल के बाद, पुलिस में केस दर्ज.

ज्ञानवापी मंदिर पक्ष के पैरोकार सोहन आर्य को पाकिस्तान से धमकी भरी कॉल के बाद, पुलिस में केस दर्ज.

Gyanvapi Masjid: डॉ सोहन लाल आर्य को दो बार पहले भी धमकी मिल चुकी है. इस मसले पर डा सोहनलाल आर्य ने कहा कि वह किसी भी धमकी से नहीं डरते हैं. हिंदुत्व और मंदिर के लिए अगर उनकी जान भी चली जाए तो कोई परवाह नहीं. डा सोहन लाल की सुरक्षा में दो पुलिसकर्मी भी तैनात किए गए हैं.

अधिक पढ़ें ...

हाइलाइट्स

सोहनलाल आर्य को पाकिस्तान से आई धमकी भरी कॉल
सोहनलाल ने कहा हिन्दुत्व के लिए जान भी न्यौछावर कर देंगे

वाराणसी: ज्ञानवापी श्रृंगार गौरी प्रकरण में बुधवार दोपहर को हड़कंप मच गया. बुधवार को मंदिर पक्ष के पैरोकार को पाकिस्तान से धमकी भरी कॉल आने के बाद लोग सकते में आ गए. जिसके बाद मंदिर पक्ष के पैरोकार डा सोहनलाल आर्य की तहरीर पर वाराणसी कमिश्नरेट के लक्सा थाने में मुकदमा दर्ज कर लिया गया है. डा सोहन लाल आर्य मंदिर पक्ष की ओर से कई सालों से लड़ाई लड़ रहे हैं. वाराणसी के जिला जज की अदालत में चल रही ज्ञानवापी श्रृंगार गौरी मुकदमे की सुनवाई में भी वे पैरोकार हैं. उनकी पत्नी लक्ष्मी देवी इस मुकदमे में वादिनी भी हैं.

डा सोहनलाल आर्य के मुताबिक उनके नंबर पर पाकिस्तान से धमकी भरी कॉल आई. जिसकी शिकायत उन्होंने पुलिस प्रशासन के वरिष्ठ अधिकारियों से की है. बुधवार को दोपहर को वह अपने वकील सुभाष नंदन चतुर्वेदी के साथ पुलिस को प्रार्थना पत्र देने पहुंचे. पुलिस ने इस मामले में शाम को वाराणसी कमिश्नरेट के लक्सा थाने में अज्ञात लोगों के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर लिया है.

पूरे मामले को लेकर एसीपी अवधेश पांडे ने बताया कि सोहनलाल आर्य की तहरीर पर मुकदमा दर्ज कर, नंबर की पहचान की जा रही है. इस पूरे मामले को गंभीरता से लेते हुए पुलिस की टीम जांच कर रही है. उन्होंने कहा कि साइबर सेल को सक्रिय कर दिया गया है. जल्द ही ये पता चल जाएगा कि ये धमकी भरा कॉल कहां से आया था.

पहले भी मिल चुकी है धमकी
आपको बता दें कि डॉ सोहन लाल आर्य को दो बार पहले भी धमकी मिल चुकी है. इस मसले पर डा सोहनलाल आर्य ने कहा कि वह किसी भी धमकी से नहीं डरते हैं. हिंदुत्व और मंदिर के लिए अगर उनकी जान भी चली जाए तो कोई परवाह नहीं. डा सोहन लाल की सुरक्षा में दो पुलिसकर्मी भी तैनात किए गए हैं.

गौरतलब है कि वाराणसी के जिला जज की अदालत में चल रही सुनवाई में मंदिर पक्ष की ओर से बहस पूरी हो गई है. अब मस्जिद पक्ष से अंजुमन इंतजामिया को इसमें अपना प्रतिउत्तर दाखिल करना है. लेकिन पिछले दिनों उनके वकील अभय नाथ यादव की हार्ट अटैक से मृत्यु के कारण मस्जिद पक्ष ने अदालत से समय देने की दरख्वास्त की. जिसके बाद अदालत ने सुनवाई के लिए अगली तारीख दे दी है.

मामले की एक और सुनवाई चल रही है
इस मामले की एक और सुनवाई सिविल जज सीनियर डिवीजन की अदालत में भी चल रही है. यह मुकदमा विश्व वैदिक सनातन संघ के प्रमुख जितेंद्र सिंह की पत्नी की ओर से दाखिल किया गया है. इस मुकदमे पर भी अगली सुनवाई 5 सितंबर को है. दूसरे मुकदमे में अदालत से मांग की गई है कि ज्ञानवापी परिसर के सर्वे के दौरान मिले शिवलिंग की हिंदुओं को पूजा अधिकार मिलना चाहिए. साथ ही मांग की गई है कि ज्ञानवापी में मुस्लिमों के प्रवेश पर प्रतिबंध लगना चाहिए.

Tags: Chief Minister Yogi Adityanath, CM Yogi Aditya Nath, Gyanvapi Masjid, Uttarpradesh news, Varanasi news

विज्ञापन

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर