Varanasi News: वाराणसी वंदे भारत सुपरफास्‍ट एक्‍सप्रेस को लेकर बड़ी खबर, नहीं होगा T-18 रैक का इस्‍तेमाल, जानें वजह

Varanasi News: वंदे भारत एक्‍सप्रेस ट्रेन में कुछ वक्‍त के लिए LHB कोच का इस्‍तेमाल करने का फैसला किया गय है. (फाइल फोटो)

Varanasi News: वंदे भारत एक्‍सप्रेस ट्रेन में कुछ वक्‍त के लिए LHB कोच का इस्‍तेमाल करने का फैसला किया गय है. (फाइल फोटो)

Varanasi News:वाराणसी वंदे भारत सुपरफास्‍ट एक्‍सप्रेस ट्रेन नई दिल्‍ली से चलकर बनारस पहुंचती है. इस ट्रेन में अत्‍याधुनिक T-18 रैक का इस्‍तेमाल किया जाता है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: February 5, 2021, 7:32 AM IST
  • Share this:
वाराणसी. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के संसदीय क्षेत्र वाराणसी तक जाने वाली वंदे भारत सुपरफास्‍ट एक्‍सप्रेस ट्रेन को लेकर बड़ी है. इंडियन रेलवे ने फिलहाल इस ट्रेन में अत्‍याधुनिक T-18 रैक का इस्‍तेमाल न करने का फैसला किया है. T-18 रैक के बजाय वंदे भारत ट्रेन में LHB कोच वाले तेजस एक्‍सप्रेस के रैक का इस्‍तेमाल किया जाएगा. दरअसल, वाराणसी वंदे भारत एक्‍सप्रेस को जब से शुरू किया गया है, तब से इसके T-18 रैक को मेंटेनेंस के लिए नहीं भेजा गया है. लेकिन, अब वंदे भारत ट्रेन के T-18 रैक को इंटरमीडिएट ओवहॉलिंग के लिए फैक्‍टरी में भेजने का फैसला किया गया है. मेंटेनेंस से आने के बाद ही इस रैक का इस्‍तेमाल वंदे भारत एक्‍सप्रेस ट्रेन में किया जाएगा. वंदे भारत एक्‍सप्रेस ट्रेन में 15 फरवरी से एलएचबी कोच को इस्‍तेमाल किया जाएगा.

नॉरदर्न रेलवे हेडक्‍वार्टर से जुड़े अधिकारियों ने बताया कि वाराणसी वंदे भारत एक्‍सप्रेस ट्रेन के टी-18 रैक को मेंटेनेंस के लिए भेजन का शिड्यूल तय किया गया है. ऐसे में फिलहाल इस ट्रेन में विशेष कोच के बजाय एलएचबी कोच का इस्‍तेमाल किया जाएगा. हालांकि, इसमें तेजस ट्रेन के रैक का प्रयोग करने का फैसला किया गया है. टी-18 रैक को लखनऊ के चारबाग और दिल्‍ली के शकूर बस्‍ती मेंटेनेंस शेड में भेजा जाएगा. इसके लिए विशेष व्‍यवस्‍था कर दी गई है.

मीडिया रिपोर्ट के अनुसार, टी-18 रैक को जबसे वाराणसी वंदे भारत सुपरफास्‍ट एक्‍सप्रेस ट्रेन में लगाया गया है, तब से इसका ओवहॉलिंग मेंटेनेंस नहीं हुआ है. नियमानुसार 18 महीना पूरा होने या फिर 6 लाख किलोमीटर की रनिंग के बाद इस रैक की ओवरहॉलिंग जरूरी है, लेकिन इस प्रक्रिया को पूरा नहीं किया जा सका था. बता दें कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने फरवरी के दूसरे सप्‍ताह में वाराणसी वंदे भारत एक्‍सप्रेस ट्रेन को हरी झंडी दिखाई थी. लॉकडाउन के दौरान तकरीबन 6 महीने तक इस ट्रेन की सेवा बंद रही थी.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज