• Home
  • »
  • News
  • »
  • uttar-pradesh
  • »
  • Kashi News: अस्सी से रविदास घाट के बीच बनेगी गंगा गैलरी, 300 मीटर लंबे पाथवे से दिखेगा खूबसूरत नजारा

Kashi News: अस्सी से रविदास घाट के बीच बनेगी गंगा गैलरी, 300 मीटर लंबे पाथवे से दिखेगा खूबसूरत नजारा

UP: काशी की संस्कृति और सभ्यता का एहसास

UP: काशी की संस्कृति और सभ्यता का एहसास

Beautification of Varanasi Ghaat: वाराणसी विकास प्राधिकरण की उपाध्यक्ष ईशा दुहन खुद इस पूरे प्रोजेक्ट का ब्लू प्रिंट बनाने के साथ मानीटरिंग कर रही हैं. वीसी ईशा दुहन ने बताया इस पाथवे के बनने के बाद पर्यटकों को अस्सी घाट से रविदास घाट के बीच गंगा दर्शन का नया अनुभव मिलेगा.

  • Share this:

वाराणसी. शिव नगरी वाराणसी में घाट और गंगा में पर्यटन के लिहाज से एक बड़ी योजना का खाका खींचा गया है. इस योजना के तहत अस्सी घाट से लेकर रविदास घाट तक गंगा व्यू गैलरी बनाई जाएगी. अस्सी घाट से रविदास घाट के बीच तमाम पर्यटन सुविधाओं से लैस करीब 300 मीटर लंबा पाथवे बनाकर कनेक्टिविटी मजबूत की जाएगी ताकि पर्यटकों को यहां बैठकर गंगा और घाट को निहारने का नया अनुभव मिले. इससे अस्सी घाट पर पर्यटकों की बढ़ती संख्या का दबाव कुछ कम होगा.

इस पाथवे पर बलुआ मिट्टी से बनी कुर्सियां होंगी तो हेरीटेज लाइट भी, ताकि किसी भी वक्त पर्यटक यहां बैठकर काशी की संस्कृति और सभ्यता का एहसास कर पाएं. इस पाथवे को बनाने में इस बात का भी खास ख्याल रखा जाएगा कि यहां बैठकर राजघाट तक काशी के अर्धचंद्राकार घाट को निहारने और तस्वीरें लेने का नया अनुभव मिले.

ये 300 मीटर लंबा पाथवे वाराणसी विकास प्राधिकरण बनाने जा रहा है. इसमें दोनों घाटों को जोड़ते हुए 2.5 हेक्टेयर जमीन पर ये पाथवे बनाया जाएगा. कुल 49 करोड़ की लागत है इस योजना की, जिसमे पाथवे पर 4 करोड़ की लागत से लाइट और बैठने आदि की सुविधा विकसित होगी. बता दें कि अभी रविदास घाट के मुकाबले अस्सी घाट पर पर्यटकों की सबसे ज्यादा भीड़ होती है. जबकि घाट दर्शन के लिए क्रूज रविदास घाट से मिलता है और रविदास घाट को बीते कुछ सालों में प्रशासन ने विकसित किया है.

UP: योगी सरकार जल्द कर सकती है सरकारी नौकरियों की घोषणा, मांगा रिक्त पदों का ब्यौरा

पर्यटकों को मिलेगा रास्ते का विकल्प, अब होगी आसानी

लेकिन अभी अस्सी घाट से रविदास घाट तक जाने के लिए लंबा रास्ता ही विकल्प है जिससे पर्यटकों को कठिनाई होती है. इसीलिए इस 300 मीटर के पाथवे को बनाने की योजना तैयार की गई है. वीडीए की इस कार्ययोजना को पीडब्ल्यूडी विभाग ने मंजूरी देते हुए सर्वे का आदेश दे दिया है, जबकि अभी पर्यटन विभाग से मंजूरी मिलना बाकी है. पर्यटन विभाग से मंजूरी मिलते ही इस पर काम शुरू हो जाएगा. वाराणसी विकास प्राधिकरण की उपाध्यक्ष ईशा दुहन खुद इस पूरे प्रोजेक्ट का ब्लू प्रिंट बनाने के साथ मानीटरिंग कर रही हैं. वीसी ईशा दुहन ने बताया इस पाथवे के बनने के बाद पर्यटकों को अस्सी घाट से रविदास घाट के बीच गंगा दर्शन का नया अनुभव मिलेगा.

पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

हमें FacebookTwitter, Instagram और Telegram पर फॉलो करें.

विज्ञापन
विज्ञापन

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज