वाराणसी में पंचायत चुनाव से पहले खूनी संघर्ष, पूर्व प्रधान पप्पू यादव की गोली मारकर हत्या

पूर्व प्रधान पप्पू यादव की गोली मारकर हत्या (file photo)

पूर्व प्रधान पप्पू यादव की गोली मारकर हत्या (file photo)

उधर, वारदात की सूचना पाकर बीएचयू ट्रॉमा सेंटर पहुंचे एसपी ग्रामीण (SP Rural) अमित वर्मा ने बताया कि परिजनों से यही पता लगा है कि सीने में सात गोली मारी गई है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: April 11, 2021, 10:51 AM IST
  • Share this:
वाराणसी. यूपी पंचायत चुनाव (UP Panchayat Election) का बिगुल बज चुका है. इसी बीच वाराणसी (Varanasi) जिले के बड़ागांव थाना क्षेत्र के इंद्रपुर गांव के पूर्व प्रधान पप्पू यादव (45) की शनिवार रात बदमाशों ने गोली मारकर हत्या कर दी. वारदात की वजह चुनावी और निजी रंजिश के साथ ही जमीन विवाद को मानकर पुलिस तफ्तीश कर रही है. पूर्व प्रधान की हत्या से क्षेत्र मे भय का माहौल बना गया मृतक पप्पू के दो पुत्र है. पुलिस आरोपियों की तलाश में ताबड़तोड़ छापेमारी कर रही है.

विजेंद्र यादव जब अपनी बाइक से घर लौट रहे थे हैं तो सैरा गांव के पास घात लगाए बदमाशों ने उनको गोली मार दी और भाग निकले. इसके तुरंत बाद ही उन्हें बीएचयू ट्रामा सेंटर में भर्ती कराया गया लेकिन वहां आने आने पर विजेंद्र यादव को डॉक्टरों ने मृत घोषित कर दिया. बता दें कि मृतक पप्पू यादव व उसकी पत्नी ममता यादव 2005 से लगातार प्रधान थी. जिसमे 2005 में पहली बार पप्पू यादव प्रधान पद के लिये चुना गया था, उसके बाद से लगातार उसकी दो बार उसकी पत्नी ममता यादव ग्राम सभा की प्रधान थी और इस बार वह स्वम चुनाव लड़ रहा था जिससे आस पास के लोग इससे रंजिश रखते थे और इस बार भी वह अच्छी स्थिति में था.

दलित पॉलिटिक्स: अंबेडकर की दीवानी हुईंं राजनीतिक पार्टियां, वोट बैंक साधने में जुटीं

उधर, वारदात की सूचना पाकर बीएचयू ट्रॉमा सेंटर पहुंचे एसपी ग्रामीण अमित वर्मा ने बताया कि परिजनों से यही पता लगा है कि सीने में सात गोली मारी गई है. फिलहाल शव बीएचयू मोर्चरी में रखवाया गया है और पोस्टमार्टम रिपोर्ट मिलने के बाद ही स्थिति स्पष्ट होगी कि कितनी गोली मारी गई है. बदमाशों की धरपकड़ के लिए पुलिस की तीन टीम लगाई गई है. उन्होंने बताया कि जल्द ही आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया जाएगा. वारदात के बाद गांव में सन्नाठा पसरा हुआ है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज