बनारस के डॉक्टर ने अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप को भेजा गमछा
Varanasi News in Hindi

बनारस के डॉक्टर ने अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप को भेजा गमछा
ट्रंप ने कहा है कि वो चीन को कोरोना वायरस से हुए नुकसान के लिए 160 बिलियन डॉलर का बिल भेजेंगे.

वाराणसी (Varanasi) की जनता को कोरोना वायरस संक्रमण (Corona Virus Infection) से बचने के लिए मास्क की जगह गमछा का प्रयोग करने की सलाह पीएम ने दी थी. इसके बाद यहां के डॉक्टर उत्तम ओझा ने अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप को एक बनारसी गमछा भेजा है.

  • Share this:
वाराणसी. प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी (Prime Minister Narendra Modi) के अपने संसदीय क्षेत्र वाराणसी (Varanasi) की जनता को कोरोना वायरस संक्रमण (Corona Virus Infection) से बचने के लिए मास्क की जगह गमछा का प्रयोग करने की सलाह दिए जाने के बाद वाराणसी के डॉक्टर उत्तम ओझा ने अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप को एक बनारसी गमछा भेजा है. डॉ. उत्तम ओझा ने कहा, ‘‘ गमछा बनारस का एक परंपरागत वस्त्र है और वाराणसी के लोग इस गमछे का प्रयोग विभिन्न कार्यों में करते हैं.’’ साथ ही उन्होंने उम्मीद जताई कि अमेरिका के राष्ट्रपति इसे सकारात्मक रूप से लेंगे तथा इसका प्रयोग करेंगे. उन्होंने गमछा, नई दिल्ली स्थित अमेरिकी दूतावास के माध्यम से डोनाल्ड ट्रंम को भेजा है. जिसकी ‘पार्सल स्पीड पोस्ट रजिस्ट्री’ वाराणसी से कर दी गई है.

दिव्यांग बंधु डॉक्टर उत्तम ओझा ने बताया कि वह स्वयं गमछे का उपयोग करते हैं. साथ ही प्रधानमंत्री के आवाहन पर अधिक से अधिक लोगों को इसका प्रयोग करने के लिए प्रेरित कर रहे हैं.

गमछे के साथ नजर आये थे पीएम मोदी
दरअसल, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने देश को संबोधित करने के दौरान लॉकडाउन बढ़ाने की घोषणा की थी. इस दौरान पीएम गमछे के साथ नजर आये. उन्होंने अपने सोशल मीडिया अकाउंट पर गमछे वाली डीपी लगा दी थी. इसके बाद सोशल मीडिया पर गमछा पूरी तरह छा गया. जानकारी के लिए बता दें कि गमछा बिहार और उत्तर प्रदेश के ग्रामीण इलाकों में बड़े पैमाने पर प्रयोग होता है.
बनारस में भी दिखा पीएम मोदी की अपील का असर


प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के अपील का असर उनके संसदीय क्षेत्र वाराणसी में दिख रहा है. यहां के कई सामाजिक संघटनों ने मोदी गमछे का वितरण किया है. यहां अखिल भारतीय केसरवानी वैश्य युवक सभा ने गमछा बांटा था. जिस पर कमल का निशान और मोदी गमछा लिखा हुआ था. बता दें कि पिछले दिनों प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अपनी संसदीय क्षेत्र वाराणसी में भाजपा संगठन के पदाधिकारियों और विधायकों से कोरोना और उससे लड़ने की तैयारियों पर बात की थी. उन्होंने भाजपा के जिलाध्यक्ष हंसराज विश्वकर्मा से बातचीत में कहा था की मास के बजाय आप लोग बनारसी गमछे का उपयोग भी कर सकते हैं. यह सस्ता और सहज तरीका है.

 

ये भी पढ़ें:

जाधवपुर यूनिवर्सिटी के स्टूडेंट्स कोरोना से लड़ाई के लिए बना रहे हैं ये ऐप
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading