कोविड प्रोटोकॉल को भूलकर UP में शुरू हुई 'कोरोना माई' की पूजा, कुशीनगर और वाराणसी में सामने आई तस्वीर

कोविड प्रोटोकॉल को भूलकर UP में शुरू हुई 'कोरोना माई' की पूजा

महिलाएं मंदिर (Temple) के पास घेरा बनाकर पूजा करती नजर आ रही हैं. वहीं महिलाएं घंटों पूजा करती रही, लेकिन स्थानीय पुलिस (Police) को भनक तक नहीं लगी.

  • Share this:
कुशीनगर/ वाराणसी. यह कई महिलाओं के दिल का दर्द है, जो अब कोरोना को देवी मान उससे मुक्ति के लिए विनती कर रही हैं. इस महामारी के दौरान कई आश्चर्यजनक तस्वीरें रविवार को सामने आई हैं. ऐसा ही एक मामला उत्तर प्रदेश के वाराणसी (Varanasi) और दूसरा कुशीनगर (Kushinagar) से सामने आया है, जहां महिलाएं इस खतरनाक वायरस को 'कोरोना माई' मानकर पूजा में जुट गईं हैं. वाराणसी के जैन घाट पर कोरोना को देवी मानकर सुबह शाम महिलाएं पूजन पाठ में जुटी नजर आ रही हैं. इस विश्वास के साथ की इस बीमारी से देवी मां जल्द निजात दिलाएंगी.

इन दिनों काशी के जैन घाट किनारे महिलाएं दर्जनों की संख्या में जुटी हैं. उन्होंने कोरोना को देवी की संज्ञा देकर उन को प्रसन्न करने करने के लिए 21 दिनों तक पूजन का बीड़ा उठाया है. एक श्रद्धालु ने बताया कि हम यह पूजा कर रहे हैं ताकि इस महामारी से बचा जा सके. हमें यकीन है कि जल्द ही इस बीमारी से सभी को मुक्ति भी मिलेगी.

UP: योगी सरकार पर भड़के शिवपाल यादव, कहा- कोरोना काल में गरीबों के लिए 1,000 रुपए की मदद नाकाफी

दूसरी तस्वीर यूपी के कुशीनगर जिले से सामने आई हैं. जहां कोरोना को भगाने के लिए अंधविश्वास का सहारा गांव वालों ने लिया है. बताया जा रहा है कि एक सोखा के कहने पर हाटा कोतवाली के डुमरी मलाव गांव की महिलाएं 'कोरोना माई' की पूजा में जुट गई है. महिलाएं मंदिर के पास घेरा बनाकर पूजा करती नजर आ रही हैं. वहीं महिलाएं घंटों पूजा करती रही, लेकिन स्थानीय पुलिस को भनक तक नहीं लगी. इस दौरान कोविड प्रोटोकॉल की जमकर धज्जियां उड़ाई गई.

यूपी में कोरोना संक्रमितों की संख्या में लगातार गिरावट दर्ज की जा रही है. प्रदेश में पिछले 24 घंटे में 12547 नए मरीज मिले हैं जबकि 281 लोगों की मौत हुई है. वहीं, 28404 संक्रमित अस्पताल से डिस्चार्ज होकर घर गए हैं. बता दें कि प्रदेश में अभी तक 17238 लोगों की मौत कोरोना संक्रमण के कारण हो चुकी है. प्रदेश में सक्रिय मामलों की कुल संख्या 177643 है.