राममंदिर पर बाबा रामदेव ने दिया बड़ा बयान, पीएम मोदी को बताया राम बड़ा भक्त

File Photo
File Photo

बाबा रामदेव ने कहा कि सुप्रीम कोर्ट की अपनी हदें है. सुप्रीम कोर्ट के मुख्य न्यायाधीश कह चुके हैं कि संसद स्वतंत्र है, संविधान ने उसे अधिकार दिया है. मंदिर बनाने का रास्ता उन्हें क्यों नहीं साफ करना चाहिए?

  • Share this:
उत्तर प्रदेश के वाराणसी में पहुंचे योग गुरु बाबा रामदेव ने राम मंदिर को लेकर बड़ा बयान दिया है. रामदेव ने कहा कि धर्म संसद सिर्फ संसद पर दबाव बनाने के लिए नहीं है. राम मंदिर को लेकर सुप्रीम कोर्ट से इतना विलंब हुआ है कि लोगों का सब्र का बांध टूट गया है. संसद, संविधान और लोकतंत्र का सबसे बड़ा मंदिर है. सब देशवासियों की इच्छा है कि राम मंदिर बने.

बाबा रामदेव ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की तारीफ करने हुए उन्हें बड़ा रामभक्त और राष्ट्रभक्त बताया. योग गुरु न कहा कि मोदी से बड़ा रामभक्त और राष्ट्रभक्त कोई प्रधानमंत्री नहीं हो सकता है. उन्होंने कहा कि हिंदू और मुसलमान, दोनों के पूर्वज भगवान राम थे. राम के मुद्दे पर अगर मोदी सरकार संसद में कानून लाती है तो कोई विरोध करने की हिम्मत नहीं जुटा पाएगा. योग गुरु ने कहा कि देश में राजनीतिक दलों में विरोध हो सकता है, राम का विरोध राष्ट्र में नहीं है.

श्रीश्री रविशंकर द्वारा समझौते की कोशिश पर बाबा रामदेव ने कहा कि समझौते का वक्त अब निकल चुका है. अब एक ही विकल्प बचा है कि संसद में कानून बनाओ, मंदिर वहीं बनाओ. योगगुरु ने कहा कि हिंदुस्तान में हिंदू- मुसलमान को कोई डर नहीं है. हां, अगर राममंदिर नहीं बना तो देश में सांप्रदायिक माहौल गरमाएगा. इसलिए संसद में अब कानून बनने में विलंब नहीं होना चाहिए. इस गंभीर संघर्ष को 25 साल से ज्यादा बीत गए. संसद ही अब अंतिम विकल्प है.



बाबा रामदेव ने कहा कि सुप्रीम कोर्ट की अपनी हदें है. सुप्रीम कोर्ट के मुख्य न्यायाधीश कह चुके हैं कि संसद स्वतंत्र है, संविधान ने उसे अधिकार दिया है. मंदिर बनाने का रास्ता उन्हें क्यों नहीं साफ करना चाहिए? योग गुरु ने कहा कि संसद से ऊपर कुछ नहीं है. तीनों राज्यों के चुनाव में अच्छा संघर्ष है. तीनों राज्यों के चुनाव को लोग 20-20 मुकाबले की तरह देख रहे हैं.
ये भी पढ़ें- स्कूल में बच्चों से धुलवाए जाते हैं 'मिड डे मील' के झूठे बर्तन, वीडियो वायरल

राहुल गांधी के गुजराती दोस्त हार्दिक पटेल की यूपी में एंट्री, दिसंबर में बड़े आंदोलन का ऐलान

सीतापुर: पति के जिंदा रहते पत्नियों को मिलने लगी विधवा पेंशन
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज