Assembly Banner 2021

Vikas Dubey Killed: एनकाउंटर के बाद सोशल मीडिया पर भी मची हलचल, उठ रहे ये 5 सवाल

फेसबुक की एक पोस्ट.

फेसबुक की एक पोस्ट.

Vikas Dubey Killed: सोशल मीडिया में किए गए पोस्‍ट पुलिस उज्जैन से विकास को कानपुर ले जाएगी. रास्ते में विकास पुलिस (Police) की पिस्टल छीनकर भागेगा. और इस कोशिश में एनकाउंटर (Encounter) के दौरान वो मारा जाएगा.

  • News18Hindi
  • Last Updated: July 10, 2020, 12:10 PM IST
  • Share this:
 नई दिल्ली. कानपुर शूटआउट (Kanpur Shootout) में मारे गए 8 पुलिसवालों की हत्या का आरोपी विकास दुबे (Vikas Dubey) एनकाउंटर में मारा गया है. पुलिस का आरोप है कि गाड़ी का एक्सीडेंट होने के बाद वो भागने की कोशिश कर रहा था. गैंगस्टर विकास दुबे का एनकाउंटर होते ही सोशल मीडिया (Social Media) पर भी हलचल मच गई है. यूपी सरकार और पुलिस की वाहवाही भी हो रही है.

इसके साथ ही एनकाउंटर पर कुछ सवाल भी उठ रहे हैं. हैरत की बात तो यह है कि सोशल मीडिया पर गुरुवार की शाम ही कुछ पोस्ट डाली गई थी. यह वो पोस्ट थी जिसमें लिखा था कि पुलिस उज्जैन से विकास को कानपुर ले जाएगी. रास्ते में विकास पुलिस की पिस्टल छीनकर भागेगा और इस कोशिश में एनकाउंटर के दौरान वो मारा जाएगा.

सोशल मीडिया पर पूछे जा रहे हैं यह 5 सवाल
सोशल मीडिया पर गैंगस्टर विकास दुबे के एनकाउंटर को हर कोई अपने नज़रिए से देख रहा है. विकास के एनकाउंटर को लेकर जो सवाल उठ रहे हैं, उसमें सबसे पहला सवाल नंबर एक यह है कि जब पुलिस एक कुख्यात अपराधी विकास को ले जा रही थी तो उसके हाथ में हथकड़ी क्यों नहीं थी. अगर थी तो हथकड़ी लगा हुआ विकास दुबे पुलिस वाले की पिस्टल लेकर कैसे भागा.
यह भी पढ़ें- शूटआउट वाली रात 5 किमी तक साइकिल से भागा था विकास दुबे, यहां पहुंचकर ली थी बाइक!



Vikas Dubey Encounter: विकास दुबे के एनकाउंटर पर SSP कानपुर का बड़ा खुलासा, ये लोग कर रहे थे काफिले का पीछा

सवाल नंबर दो- मध्य प्रदेश से विकास को ला रही पुलिस की गाड़ियों के पीछे-पीछे लगी मीडिया की गाड़ियों को एनकाउंटर वाली जगह से एक किमी पहले क्यों रोक दिया गया?

सवाल नंबर तीन- जब पुलिस की गाड़ी पलटी तो गाड़ी पलटने से आने वाली चोट के निशान विकास के शरीर पर क्यों नहीं हैं?

सवाल नंबर चार- थोड़ी देर के लिए हाइवे पर ट्रैफिक क्यों रोका गया. ट्रैफिक रोकने का आदेश किसका था?

सवाल नंबर पांच- सोशल मीडिया पर चर्चा यह भी है कि उज्जैन से विकास को जिस गाड़ी में लाया जा रहा था वो टाटा सफारी थी और जिस गाड़ी का एक्सीडेंट हुआ है वो महिन्द्रा टीयूवी है?


सोशल मीडिया की पोस्ट पर भी उठे सवाल

सोशल मीडिया पर उन पोस्ट को लेकर भी चर्चा हो रही है कि किस तरह लोगों ने एनकाउंटर से 10 और 12 घंटे पहले ही शुक्रवार के एनकाउंटर से मिलती-जुलती बातें लिखी हैं. जैसे पुलिस विकास दुबे को उज्जैन से कानपुर लेकर जाएगी. रास्ते में विकास पुलिस की पिस्टल छीनकर भागने की कोशिश करेगा और इस कोशिश में वह मारा जाएगा. कुछ लोगों ने गुरुवार की अपनी पोस्ट में यह भी लिखा है कि शुक्रवार की सुबह तक एनकाउंटर की खबर आ जाएगी.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज