लाइव टीवी

सुबह 11 बजे से शुरू होगी धर्मसभा, 50 साधु-संत, संघ-विहिप नेता करेंगे संबोधित
Faizabad News in Hindi

News18Hindi
Updated: November 25, 2018, 7:37 AM IST
सुबह 11 बजे से शुरू होगी धर्मसभा, 50 साधु-संत, संघ-विहिप नेता करेंगे संबोधित
मंदिर मामले की संवेदनशीलता देखते हुए अयोध्या प्रशासन सतर्क है

विश्व हिंदू परिषद ने बताया कि साधु-संतों के अलावा आरएसएस के सह सरकार्यवाह डॉ. कृष्ण गोपाल और विश्व हिंदू परिषद के उपाध्यक्ष चंपत राय मौजूद रहेंगे.

  • News18Hindi
  • Last Updated: November 25, 2018, 7:37 AM IST
  • Share this:
अयोध्या के बड़ा भक्तमाल की बगिया में रविवार को होने जा रही विश्व हिंदू परिषद की धर्मसभा को लेकर तैयारियां पूरी कर गई हैं. इस धर्मसभा के जरिये संत और धर्माचार्य राम मंदिर निर्माण के लिए सरकार पर दबाव बनाएंगे. विश्व हिंदू परिषद के अयोध्या में प्रतिनिधि पंकज ने बताया कि सभा में आरएसएस, विहिप एवं अन्य संगठनों से जुड़े करीब 50 से 60 लोगों का संबोधन होगा. जिनमें साधु-संतों के अलावा आरएसएस के सह सरकार्यवाह डॉ. कृष्ण गोपाल और विश्व हिंदू परिषद के उपाध्यक्ष चंपत राय प्रमुख होंगे. (ये भी पढ़ें: राम मंदिर-बाबरी मस्जिद विवाद: अयोध्या की विवादित जमीन पर बौद्ध क्यों कर रहे हैं दावा?)

कार्यक्रम सुबह 11 बजे दीप प्रज्वलन से शुरू होगा जो शाम चार बजे तक चलेगा. स्वागत के बाद धर्माचार्य राम मंदिर पर अपनी बात रखेंगे. सूत्रों का कहना है कि आरएसएस और विहिप ने धर्मसभा में करीब दो लाख लोगों के जुटने का दावा किया है. आयोजन के लिए फूड पैकेट्स तैयार हो रहा है. आयोजन स्थल पर राम मंदिर आंदोलन से जुड़े बैनर पोस्टर के जरिए लोगों, खासतौर पर युवाओं को जोड़ने की कोशिश होगी.

 Vishwa Hindu Parishad, VHP, Ram janmabhoomi, Ram temple, rss, Ayodhya, vhp Dharam Sabha, Ayodhya land dispute, babri masjid, विश्व हिंदू परिषद, वीएचपी, विहिप, राम जनभूमि, राम मंदिर, आरएसएस, अयोध्या, वीएचपी की धर्म सभा, अयोध्या भूमि विवाद, बाबरी मस्जिद, Supreme court, सुप्रीम कोर्ट         क्या धर्मसभा से सरकार पर बढ़ेगा दबाव?



मंदिर मामले की संवेदनशीलता को देखते हुए प्रशासन सतर्क है. राम भक्तों के यहां पहुंचने पर कानून व्यवस्था खराब न हो इसके लिए कड़े सुरक्षा के इंतजाम किए गए हैं. 6 दिसंबर 1992 को बाबरी मस्जिद विध्वंस की घटना के बाद पहली बार अयोध्या में इतने बड़े स्तर पर कोई कार्यक्रम हो रहा है.



धर्मसभा के बीच मंदिर आंदोलन से जुड़े साधु-संत सरकार पर दबाव बनाने की कोशिश में जुटे हुए हैं. मंदिर निर्माण के लिए हिंदू पक्षकार धर्मदास ने हनुमान गढ़ी में संतों के साथ अनुष्ठान कर हनुमान जी से विघ्न वाधाओं को दूर करने की प्रार्थना की. दूसरी ओर महंत परमहंस दास ने तपस्वी छावनी में चिता पूजन कर 5 दिसंबर तक मंदिर निर्माण का रास्ता न खुलने पर 6 दिसंबर को आत्मदाह करने की बात दोहराई.

ये भी पढ़ें: 

राम मंदिर शिलान्‍यास: जब एक ब्राह्मण ने छुए दलित के पैर

शहीद या पीड़ित : कोठारी बंधु, जिन्‍होंने राम मंदिर के लिए लगा दी पूरी जिंदगी

राम मंदिर पर अदालत में फैसला विपरीत आया तो कानून लाकर करेंगे निर्माण: केशव प्रसाद मौर्य

केंद्रीय मंत्री ने कहा, 'हिंदू ही नहीं, अधिकांश मुस्लिम भाइयों की भी यही भावना है कि मंदिर बने'

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए फैजाबाद से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: November 25, 2018, 3:12 AM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
corona virus btn
corona virus btn
Loading