लाइव टीवी

TikTok पर शोहरत का जूनून पड़ा भारी, पहुंचा सलाखों के पीछे, जानिये मामला

News18 Uttar Pradesh
Updated: November 12, 2019, 6:17 PM IST
TikTok पर शोहरत का जूनून पड़ा भारी, पहुंचा सलाखों के पीछे, जानिये मामला
आरोपी पंकज ने दो युवतियों का फोटो अश्‍लील गाने के साथ टिकटॉक नामक सोशल प्‍लेटफार्म पर पोस्‍ट कर दिया था.

इस मामले में आजमगढ़ पुलिस ने टिक-टॉक (TikTok) को नोटिस जारी कर पूछा है कि वे अपने प्लेटफार्म का इस तरह गलत इस्तेमाल कैसे होने दे रहे हैं.

  • Share this:
आजमगढ़ (Azamgarh) : सोशल साइट (Social platform) टिकटॉक (TikTok)  पर रातों-रात शोहरत पाने की चाहत में एक युवक बड़ा गुनाह (Crime) कर बैठा और इस गुनाह का खामियाजा इस शख्‍स को जेल की सलाखों के पीछे जाकर चुकाना पड़ा. दरअसल, यह पूरा मामला उत्‍तर प्रदेश (Uttar Pradesh) के आजमगढ़ (Azamgarh) का है, जहां शोहरत पाने के लिए एक शख्‍स ने दो युवतियों की फोटो (Photographs) को अश्‍लील (vulgar) भोजपुरी गाने (Bhojpuri Song) के साथ टिकटॉक (TikTok)  पर पोस्‍ट कर दिया. टिकटॉक (TikTok)  के इस वीडियो के देखने के बाद दोनों युवतियों ने इसकी शिकायत पुलिस (Police) से की. पुलिस ने दोनों युवतियों की शिकायत पर कार्रवाई करते हुए आरोपी युवक को गिरफ्तार (Arrest) कर सलाखों के पीछे भेज दिया है.

पुलिस सूत्रों के अनुसार, यह मामला आजमगढ़ के रौनापार थाना क्षेत्र के अंतर्गत आने वाले महुला गांव का है. इस गांव में रहने वाल पंकज साहनी नामक युवक बीते दिनों अपने मामा के शादी में शरीक होने के लिए बलिया के कल्याणपुर गया हुआ था. उन्‍होंने बताया कि आरोपी युवक पंकज ने शादी में शरीक होने आईं दो युवतियों की फोटो अपने मोबाइल से ले ली. घर वापस आने के बाद, पंकज ने मोनिका कुमारी के नाम से टिकटॉक (TikTok)  में फर्जी आईडी बनाई. जिसके बाद, आरोपी ने पहले दोनों युवतियों की फोटो को अपनी फोटो के साथ जोड़ दिया, फिर उसके बैकग्राउंड में एक अश्‍लील भोजपुरी गाना डालकर एक वीडियो बना दिया.

आरोपी पंकज ने इस वीडियो को टिकटॉक (TikTok)  नामक सोशल साइट पर अपलोड कर दिया. पंकज द्वारा अपलोड किया गया यह वीडियो टिकटॉक (टिकटॉक (TikTok) ) पर देखते ही देखते वायरल हो गया. इस वीडियो के बाबत जैसे ही दोनों युवतियों को खबर मिली, तो उन्‍होंने इसकी जानकारी पुलिस को दी. पुलिस अधीक्षक प्रो. त्रिवेणी सिंह के निर्देश पर पुलिस ने आरोपी पंकज के खिलाफ आईपीसी की धारा 420, 294 आई आईटी एक्‍ट की धारा 66 ई के तहत मुकदमा दर्ज कर अपनी कार्रवाई शुरू कर दी. वहीं, इस मामले को जल्‍द से जल्‍द अंजाम तक पहुंचाने के लिए साइबर सेल यूनिट ने आरोपी की सरगर्मी से तलाश शुरू कर दी.

आरोपी पंकज की तलाश कर रही साइबर सेल यूनिट को जल्‍द ही इलेक्‍ट्रोनिक सर्विलांस की मदद से आरोपी की लोकेशन का पता चल गया. जिसके बाद, मंगलवार सुबह करीब 7:30 बजे साइबर सेल और स्‍थानीय पुलिस की संयुक्‍त टीम ने बनकट बाजार के पास से आरोपी पंकज को गिरफ्तार कर लिया. न्यूज़ 18 से बातचीत के दौरान पुलिस अधीक्षक प्रो. त्रिवेणी सिंह ने बताया है कि आरोपी टिक-टाक के जरिये लड़कियों को बदनाम कर रहा था. उसके खिलाफ कार्रवाई के साथ ही टिक-टॉक को भी नोटिस जारी किया गया है. टिकटॉक से पूछा गया है कि वे अपने प्लेटफार्म का इस तरह गलत इस्तेमाल कैसे होने दे रहे हैं.

यह भी पढ़ें:
गाजियाबाद: पत्नी की हत्या कर खुद भी किया खुदकुशी का प्रयास
NSUI के विलाल अहमद ने DM को सौंपा 1100 रुपए का चेक, बोले- राम मंदिर में हमारे नाम की भी लगें चार ईंटेंबाबरी मस्जिद के मुद्दई इकबाल अंसारी ज़मीन लेने के लिए तैयार, बनवाएंगे स्कूल और अस्पताल
यहां Aadhaar नंबर का इस्तेमाल करते वक्त बरतें सावधानी, वरना देना होगा 10 हजार रुपये जुर्माना


 

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए आजमगढ़ से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: November 12, 2019, 6:17 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर