अपना शहर चुनें

States

160 पाकिस्तानी समेत 5000 लावारिस हिंदुओं की हरिद्वार में होगी रॉयल विदाई

पिछले साल प्रवाहित की गईं अस्थियों की फोटो.  
PHOTO: Pradesh 18
पिछले साल प्रवाहित की गईं अस्थियों की फोटो. PHOTO: Pradesh 18

उत्तराखंड के हरिद्वार में आज पाकिस्तान के 160 हिंदुओं समेत करीब 5000 लावारिसों हिंदुओं की रॉयल विदाई होगी. इनकी अस्थियों को हरिद्वार के कनखल घाट पर आज दोपहर विसर्जित किया जाएगा.

  • Pradesh18
  • Last Updated: September 24, 2016, 2:31 PM IST
  • Share this:
उत्तराखंड के हरिद्वार में आज पाकिस्तान के 160 हिंदुओं समेत करीब 5000 लावारिसों हिंदुओं की रॉयल विदाई होगी. इनकी अस्थियों को हरिद्वार के कनखल घाट पर आज दोपहर विसर्जित किया जाएगा.

अस्थियों में विसर्जित करने के लिए शुक्रवार को दिल्ली से विशाल शोभा यात्रा निकली थी. अस्थियों पाकिस्तान के 160 लोगों की अस्थियों के अलावा दिल्ली-एनसीआर के लोगों की अस्थियां. लावारिस लोगों की अस्थियों रॉयल ढंग से विसर्जित करने का काम दिल्ली की एक संस्था देवोत्थान सेवा समिति 2003 से कर रही है.

समिति अब तक एक लाख से ज्यादा लोगों की अस्थियां विसर्जित कर चुकी है. पाकिस्तान से आईं 160 लोगों की अस्थियां कराची के पंचमुखी हनुमान मंदिर में इकट्ठी की गयी थीं. यह 15 सितंबर को बाघ बॉर्डर के जरिए भारत पंहुची. साल 2011 में भी पाकिस्तान से 135 लोगों की अस्थियां विसर्जित करने के लिए आयी थीं.



देवोत्थान सेवा समिति से महासचिव विजय शर्मा का कहना है कि लावारिस लोगों का मौत के बाद राज्य के प्रशासन और पुलिस की ओर से अंतिम संस्कार तो कर दिया जाता है लेकिन बड़ी तादाद में श्मशान घाटों पर उनकी अस्थियां पड़ी रहती हैं। हिंदू मान्यता के अनुसार जब तब अस्थियों को प्रवाहित नहीं कर दिया जाता मरने वालों को मोक्ष नहीं मिलता। इसी सोच को ध्यान में रखते हुए हमने लावारिस लोगों की अस्थियों को प्रवाहित करने का प्रोग्राम शुरू किया।
पंचमुखी हनुमान मंदिर, कराची, पाकिस्तान के  महंत रामनाथ मिश्र का कहना है कि ‘हरिद्वार के बारे में सब जानते हैं कि मोक्ष पाने की यह सबसे अच्छी जगह है। कुछ परिवार के लोगों ने हमें अस्थियों सौंपी हैं और कुछ ऐसी भी हैं जिनका कोई वारिस नहीं है। मृत लोगों को मोक्ष मिल सके इसलिए हम हिंदुस्तान आकर हरिद्वार में अस्थियां प्रवाहित कर रहे हैं.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज