• Home
  • »
  • News
  • »
  • uttarakhand
  • »
  • अल्मोड़ा बेस अस्पताल में हार्ट केयर सेंटर में 11 हजार लोगों करवा चुके हैं चैकअप

अल्मोड़ा बेस अस्पताल में हार्ट केयर सेंटर में 11 हजार लोगों करवा चुके हैं चैकअप

अल्मोड़ा के बेस अस्पताल में दिसम्बर 2016 में खोला गया था हार्ट केयर सेंटर.

अल्मोड़ा के बेस अस्पताल में दिसम्बर 2016 में खोला गया था हार्ट केयर सेंटर.

राज्य सरकार डॉ. ओपी यादव को प्रतिमाह 11 लाख रुपये लोगों की सेवा के लिए देती है. पिछले तीन माह से राज्य सरकार द्वारा पैसे नहीं दिये जाने से हार्ट सेंटर बंद होने के कगार पर हैं.

  • Share this:
अल्मोड़ा के बैस अस्पताल में दिसम्बर 2016 में हार्ट केयर सेंटर खोला गया. जिसमें अब तक पर्वतीय क्षेत्रों के 11 हजार से भी अधिक लोगों ने अपना चैकअप करवाया हैं. नेशनल हार्ट इंस्टीट्यूट के सीईओ डॉ. ओपी यादव और राज्य सरकार के बीच करार हुआ था. राज्य सरकार डॉ. ओपी यादव को प्रतिमाह 11 लाख रुपये लोगों की सेवा के लिए देती है. पिछले तीन माह से राज्य सरकार द्वारा पैसे नहीं दिये जाने से हार्ट सेंटर बंद होने के कगार पर हैं.

राज्य के पर्वतीय क्षेत्रों में भी हार्ट से संबंधित बीमारियां तेजी से बढ़ रही हैं. लोगों को हृदय रोग की जांच के लिए मैदानी क्षेत्रों का रुख करना पड़ता हैं. जिसे देखते हुऐ तत्कालीन मुख्यमंत्री हरीश रावत ने दिल्ली नेशनल हार्ट इंस्टीट्यूट के सीईओ से एक करार किया जिसमें प्रतिमाह राज्य सरकार हार्ट केयर सेंटर चलाने के लिए 11 लाख रुपये देंगे. पूर्व मुख्यमंत्री अल्मोड़ा के साथ गढवाल सहित कई जिलों में इस सेंटर को राज्य सरकार से खोलनी की मांग कर रहे हैं.

केन्द्रीय राज्य मंत्री अजय टम्टा डबल इंजन सरकार में बजट की कमी का हवाला दे रहे हैं. आर्थिक कठिनाई होने से करार को आगे नहीं बढ़ा पाये हैं. इसके साथ ही अब व्यवस्था ठीक होने से करार को आगे बढ़ाने की बात कर रहे हैं.

स्वास्थ्य सुविधाएं बेहतर नहीं होने से लोग पहाड़ से तेजी से पलायन कर रहे हैं. लोगों को स्वास्थ्य सुविधाएं सभी स्थानों पर आसानी से मिल जाती हो वह पलायन कम करेगा. राज्य सरकार हार्ट केयर के करार को आगे बढ़ाने के साथ ही गढवाल के पर्वतीय क्षेत्रों में भी खोले जिससे लोगों के हार्ट की जांच के लिए मैदानी क्षेत्रों का रुख नहीं करना पड़ेगा.

पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

हमें FacebookTwitter, Instagram और Telegram पर फॉलो करें.

विज्ञापन
विज्ञापन

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज