• Home
  • »
  • News
  • »
  • uttarakhand
  • »
  • मेहनत, पैसा, पानी बचाएगी यह किफ़ायती मशीन.... बदल देगी पहाड़ों में खेती की सूरत

मेहनत, पैसा, पानी बचाएगी यह किफ़ायती मशीन.... बदल देगी पहाड़ों में खेती की सूरत

 हाथ से चलने वाली यह मशीन पहाड़ों के सीढ़ीदार खेतों में आसानी से काम करेगी.

हाथ से चलने वाली यह मशीन पहाड़ों के सीढ़ीदार खेतों में आसानी से काम करेगी.

यह मशीन सीढ़ीदार खेतों में बेड बना सकती है, प्लास्टिक मल्च डाल सकती है और इनलाइन ड्रिप भी डाल सकती है.

  • Share this:
पहाड़ों में खेती की बदहाली किसी से छिपी नहीं है. यहां से हो रहे पलायन की सबसे बड़ी वजहों में खेती की खस्ता हालत भी है. पलायन रोकने और किसानों की आय बढ़ाने के लिए विवेकानंद संस्थान बढ़िया प्रजाति के बीजों और कृषि उपकरणों की खोज तो लगातार करता है लेकिन इस बार संस्थान ने विवेक मल्च कम ड्रिप लेइंग रोलर लांच किया है. यह कम बारिश और खरपतवार की परेशानी से जूझ पहाड़ों के किसानों के लिए खुशखबरी मानी जा रही है. विवेकानंद पर्वतीय अनुसंधान संस्थान ने प्लास्टिक मल्च और इनलाइन ड्रिप बिछाने की एक मशीन बनाई है. माना जा रहा है इस मशीन से खेती को नया आयाम मिल सकेगा.

संस्थान के निदेशक डॉक्टर ए पटनायक कहते हैं कि इससे पहाड़ के किसानों के लिए खेती फ़ायदे का सौदा हो सकती है. हाथ से चलने वाली यह मशीन पहाड़ों के सीढ़ीदार खेतों में आसानी से काम करेगी.

पटनायक बताते हैं कि यह मशीन सीढ़ीदार खेतों में बेड बना सकती है, प्लास्टिक मल्च डाल सकती है और इनलाइन ड्रिप भी डाल सकती है. इससे खरपतवार की निराई-गुड़ाई में लगने वाली समय और पैसा बचेगा. इसके अलावा यह मशीन मिट्टी में नमी को भी बनाकर रखती है जिससे पानी की खपत भी कम होती है.

ख़ास बात इस मशीन की कीमत भी है. मात्र साढ़े सात हज़ार रुपये की पहाड़ की खेती का सूरत बदल सकती है बशर्ते यह ईजाद इस्तेमाल करने वाले तक पहुंचे और किसानों को इसके फ़ायदे समझाने की ईमानदार कोशिश हो.

उत्‍तराखंड के सीढ़ीदार खेतों में अब इजराइली तकनीक से होगी खेती

लाखों की नौकरी छोड़ गांव में ऑर्गेनिक खेती कर रही पहाड़ की बेटी, CM ने किया सम्मानित

पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

हमें FacebookTwitter, Instagram और Telegram पर फॉलो करें.

विज्ञापन
विज्ञापन

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज