लाइव टीवी

अल्‍मोड़ा: लॉकडाउन की घोषणा होते ही बिना पैसे दिए भागा ठेकेदार, भटकने को मजबूर मजदूर
Almora News in Hindi

Kishan Joshi | News18Hindi
Updated: March 25, 2020, 10:44 PM IST
अल्‍मोड़ा: लॉकडाउन की घोषणा होते ही बिना पैसे दिए भागा ठेकेदार, भटकने को मजबूर मजदूर
अल्मोड़ा मेडिकल कालेज में काम करने वाले मजदूर परेशान हैं.

एक मजदूर ने कहा कि वह पिछले कई महिनों से मेडिकल कॉलेज में काम कर रहा था. ठेकेदार ने उसे कोई भुगतान नही दिया है. अब लॉकडाउन होते ही ठेकेदार अपने घर को चला गया है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: March 25, 2020, 10:44 PM IST
  • Share this:
अल्‍मोड़ा. प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी (PM Narendra Modi) ने कोरोना (Corona Virus) संक्रमण को कम करने के लिए 22 मार्च को जनता कर्फ्यू लगाया इसके बाद राज्य सरकार ने उसी दिन शाम को राज्य में लॉकडाउन (Lockdown) की घोषणा कर दी. मंगलवार को प्रधानमंत्री ने 21 दिनों के लिए पूर्ण रुप से लॉकडाउन का ऐलान कर दिया है. हालांकि इसमें किसी भी व्यक्ति को सिर्फ सुबह 3 घंटे ही बाहर निकलने की परमिशन दी गयी है.

कोरोना संक्रमण के खतरे का असर सबसे अधिक मजदूरों पर पड़ा. अल्मोड़ा मेडिकल कालेज में काम करने वाले मजदूर परेशान हैं. ठेकेदार काम बंद कर घर चला गया, मजदूरों को न पैसा दिए और न कोई इंतजाम किया. अब मजदूर जिला प्रशासन के कंट्रोल रुप के आस-पास भटक रहे हैं. मजदूर जिसान ने कहा कि ठेकेदार निर्माण कार्य को बंद कर अपने घर चला गया है. पिछले कई महिनों से वह कॉलेज में काम कर रहे थे, लेकिन अब उनके पास पैसा नही है. वह किसी भी तरह से अपने घर जाना चाहते हैं.

एक मजदूर ने कहा कि वह पिछले कई महिनों से मेडिकल कॉलेज में काम कर रहा था. ठेकेदार ने उसे कोई भुगतान नही दिया है. अब लॉकडाउन होते ही ठेकेदार अपने घर को चला गया है. सभी 11 मजदूरों को कोई भी पैसे का भुगतान नहीं किया है. जिसके बाद अब मजदूर किसी भी तरह से घर जाना चाहते हैं. लेकिन उन्हें घर जाने की अनुमति नहीं मिल रही है.

नोडल अधिकारी जिला कंट्रोल रुप के राकेश जोशी ने बताया कि जिला प्रशासन ने परेशान लोगों को लिये कंट्रोल रुम बनाया गया है. जो भी व्यक्ति अपनी परेशानी को लेकर यहां आ रहा है उसका समाधान किया जा रहा है. इसके साथ ही जिस व्यक्ति को घरों में कोई परेशान हो रही है. उसे घर जाने के लिए वाहनों की परमिशन दी जा रही है. लॉकडाउन कर कोरोना संक्रमण से बचा जा सकता है. लेकिन जिला प्रशासन को सरकारों द्वारा करोड़ों रुपए दिये गये है फिर भी जरुरतमंद लोगों को किसी तरह की कोई मदद ही नहीं मिल पा रही है.



ये भी पढ़ें:

कोरोना वायरस से लड़ने के लिए जरूरी संसाधन नहीं... यहां दहशत में हैं स्वास्थ्यकर्मी

कोरोना वायरसः उत्तराखंड में अब तक 4 मरीज़ पॉज़िटिव, 180 रिपोर्ट नेगेटिव, 53 का इंतज़ार

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए अल्मोड़ा से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: March 25, 2020, 4:18 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर