Home /News /uttarakhand /

अल्मोड़ा: खिलाड़ियों का छलका दर्द, स्टेडियम में स्थायी कोच नहीं तो कैसे पूरे होंगे जीत के ख्वाब?

अल्मोड़ा: खिलाड़ियों का छलका दर्द, स्टेडियम में स्थायी कोच नहीं तो कैसे पूरे होंगे जीत के ख्वाब?

यहां

यहां खेलने वाले खिलाड़ी स्थायी कोच की मांग रहे हैं.

अल्मोड़ा की रहने वालीं और अंतरराष्ट्रीय महिला क्रिकेट खिलाड़ी एकता बिष्ट भी इसी मैदान में प्रैक्टिस किया करती थीं.

    अल्मोड़ा का हेमवती नंदन बहुगुणा स्पोर्ट्स स्टेडियम (Almora Hemvati Nandan Bahuguna Stadium) काफी पुराना खेल मैदान है. शहर में एक ही स्टेडियम होने से सभी खेलों को इसी मैदान पर खेला जाता है. स्टेडियम में किसी भी खेल के लिए स्थायी कोच न होने से यहां आने वाले खिलाड़ी काफी निराश हैं. वे लगातार स्थायी तौर पर कोच की नियुक्ति की मांग कर रहे हैं.

    इस स्टेडियम में संविदा पर एक साल के लिए कोच की नियुक्ति की जाती है. कुछ कोच बच्चों को सिखाने आते हैं तो कुछ नहीं. जो भी बच्चे यहां आते हैं, वे खुद ही यहां खेलते हैं और प्रैक्टिस करते हैं.

    खेल विभाग के अधिकारियों ने बताया कि वे कई बार निदेशालय को पत्र भेज चुके हैं कि यहां कोचों की नियुक्ति परमानेंट हो, पर अभी तक शासन स्तर से कोई जवाब नहीं आया है.

    गौरतलब है कि अल्मोड़ा के इस मैदान से कई महान प्रतिभाएं निकल चुकी हैं. अल्मोड़ा की रहने वालीं और अंतरराष्ट्रीय महिला क्रिकेट खिलाड़ी एकता बिष्ट भी इसी मैदान में प्रैक्टिस किया करती थीं. बैडमिंटन के युवा शटलर लक्ष्य सेन और चिराग सेन भी इसी मैदान में खेल चुके हैं. हाल ही में संतोष ट्रॉफी के लिए चयनित कुलदीप बोरा भी इसी मैदान में प्रैक्टिस करते हैं.

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर