Home /News /uttarakhand /

अल्मोड़ा के इस गांव में 2 दशक से सूखे पड़े नल, चंद लीटर पानी के लिए कई किलोमीटर का संघर्ष

अल्मोड़ा के इस गांव में 2 दशक से सूखे पड़े नल, चंद लीटर पानी के लिए कई किलोमीटर का संघर्ष

गांव

गांव की महिलाओं को पानी भरने के लिए काफी दूर जाना पड़ता है.

ग्रामीणों ने बताया कि गर्मियों में पानी भरने के लिए उन्हें काफी लंबी लाइन लगानी पड़ती है.

    अल्मोड़ा (Almora Water Issue) से तकरीबन 25 किलोमीटर की दूरी पर है चितई गांव, जहां के लोग आज भी पानी की किल्लत से जूझ रहे हैं. इस गांव में चितई पंत, चितई तिवारी, पेटशाल, सिरड़ के गांव में लोग पानी के लिए नौलों और स्रोतों पर आश्रित हैं. लोगों को पानी भरने के लिए काफी दूर जाना पड़ता है.

    ग्रामीणों ने बताया कि गर्मियों में पानी भरने के लिए उन्हें काफी लंबी लाइन लगानी पड़ती है, जिस वजह से कभी तो उन्हें पानी भी नहीं मिल पाता है. ठंड में उन्हें बारिश और बर्फ में ही पानी लेने के लिए खड़ा रहना पड़ता है.

    जल निगम के अधिशासी अभियंता केडी भट्ट ने बताया कि यहां पहले से ही पाइपलाइन बिछी हुई है, पर पानी की दिक्कत होने से पानी नहीं आ रहा है. इस गांव में सर्वे कर लिया गया है. जल्द ही गांव में पानी आ जाएगा और अप्रैल तक पूरे गांव में पानी पहुंच जाएगा.

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर