उत्तराखंडः अल्मोड़ा में बढ़ रहे कोरोना मरीज, मगर एक साल पहले आए 34 वेंटिलेटर गोदाम में बंद

अल्मोड़ा बेस अस्पताल को जल्द ही मेडिकल कॉलेज के अधीन जाना है.

अल्मोड़ा बेस अस्पताल को जल्द ही मेडिकल कॉलेज के अधीन जाना है.

Almora Corona News: अल्मोड़ा जिले में पीएम केयर फंड से 34 वेंटिलेटर खरीदे गए थे, लेकिन एक साल से इनका इस्तेमाल नहीं हो रहा. जिले में एक्टिव मरीजों की संख्या बढ़कर 167 हुई.

  • Share this:
अल्मोड़ा. उत्तराखंड के अल्मोड़ा जिले में तेजी से कोरोना संक्रमण फैल रहा है. 167 एक्टिव मरीज आज भी अस्पतालों में अपना इलाज करा रहे हैं. इसके साथ ही सैकड़ों सैंपल जांच के लिए लैब में लंबित पड़े हैं. लेकिन जिले में पीएम केयर फंड से खरीदे गए 34 वेंटिलेटर एक साल से बेस अस्पताल के गोदाम में धूल फांक रहे हैं. विभाग ने न तो आईसीयू वार्ड बनाया है और न ही उनमें वेंटिलेटर स्थापित किए हैं. गंभीर मरीजों को स्वास्थ्य विभाग हायर सेंटर रेफर कर रहा है. अल्मोड़ा में ऑक्सीजन लेबल कम होने के बाद कोई भी इंतजाम नहीं है. विभाग के अधिकारी डॉक्टर और टेक्नीशियन नहीं होने की बात कर रहे हैं.

स्वास्थ्य विभाग के अधिकारी न्यूज 18 के कैमरे से बचते ही जा रहे हैं, क्योंकि न्यूज 18 हमेशा जनता के मुद्दों को उठाता रहता है. इस बार जब मेडिकल कॉलेज के प्रधानाचार्य और सीएमओ से पूछा तो कैमरे के सामने बोलने से बचते रहे. लेकिन जल्दी आईसीयू और वेंटिलेटर स्थापित करने की बात कर रहे हैं. लेकिन इसे स्थापित करने के लिए डॉक्टरों की कमी और टेक्नीशियन की कमी को बता रहे हैं.

अस्पताल में अन्य व्यवस्था स्वास्थ्य विभाग की है

अल्मोड़ा बेस अस्पताल को जल्द ही मेडिकल कॉलेज के अधीन जाना है. लेकिन मेडिकल कालेज को एमसीआई से मान्यता नहीं मिलने से पूरा मामला अधर में लटका है. बेस अस्पताल में काम करने वाले डॉक्टर भी अधर में हैं. निर्माण का कार्य मेडिकल कॉलेज के साथ हो रहा है. जबकि अस्पताल में अन्य व्यवस्था स्वास्थ्य विभाग की है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज